मेघालय में ममता बनर्जी ने कांग्रेस को बड़ा झटका दिया है। जिसके बाद से सियासत में हड़कंप मच गया है। आपको बता दें कि टीएमसी में कांग्रेस के 17 में से 12 विधायक शामिल हो गए हैं। ये कांग्रेस पार्टी के लिए बड़ा झटका माना जा रहा है।

बता दें कि मेघालय के पूर्व सीएम मुकुल संगमा को टीएमसी ने अपने पार्टी में शामिल कराकर सबसे बड़ी कूटनीतिक जीत हासिल की है। गौरतलब है कि मुकुल संगमा ने तृणमूल कांग्रेस के महासचिव अभिषेक बनर्जी से सितंबर माह में मुलाकात की थी।

हालांकि ये मुलाकात कब हुई थी, इस बारे में दोनों ही पक्षों ने इस बारे में कंफर्म नहीं किया। हालांकि संगमा ने ये जरूर कहा था कि उनकी मुलाकात हुई है, वहीं सूचना ये है मुकुल संगमा विधानसभा में विपक्ष के नेता विसेंट पाला से काफी परेशान थे।

मेघालय के दिग्गज नेता टीएमसी में शामिल
बता दें कि तृणमूल कांग्रेस सुप्रीमो ममता बनर्जी इस समय पार्टी के विस्तार में जुटी है, माना जा रहा है कि ममता बनर्जी 2024 में केंद्र की राजनीति में कदम बढ़ाना चाह रही हैं। ऐसा में हर राज्य में अपनी पैठ बनाने की कोशिश में जुटी हैं।

इसी क्रम में मेघालय में कुछ महीनों के भीतर ही टीएमसी पार्टी में कांग्रेस के कई नेता शामिल हुए हैं। दरअसल, टीएमसी में कांग्रेस के जानें माने चेहरों को शामिल कराने का सिलसिला जारी है।

इसी कड़ी में 23 नवंबर को कांग्रेस नेता कीर्ति आजाद, कांग्रेस की हरियाणा इकाई के पूर्व अध्यक्ष अशोक तंवर और जनता दल(यू) के पूर्व महासचिव पवन वर्मा भी शामिल हुए थे।

ममता बनर्जी लगातार अन्य राज्यों में अपनी राजनीतिक पकड़ मजबूत कर रही हैं। राजनीतिक गलियारों में अब अटकलों का बाजार गर्म हो गया है कि 2024 लोकसभा चुनाव में ममता बनर्जी मोदी को सीधे टक्कर दे सकती हैं।

Share.

Comments are closed.