कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री सलमान खुर्शीद की हालिया प्रकाशित पुस्तक ‘सनराइज ओवर अयोध्या’ के प्रकाशन व बाजार में बिक्री पर रोक लगाने से दिल्ली हाई कोर्ट ने इनकार कर दिया है। बृहस्पतिवार को दिल्ली हाई कोर्ट के न्यायाधीश ने याचिका खारिज करते हुए कहा कि ‘लोगों से कहिए वो किताब न खरीदें और न पढ़ें।’

गौरतलब है कि पूर्व केंद्रीय मंत्री सलमान खुर्शीद की लिख किताब ‘सनराइज ओवर अयोध्या’ के प्रकाशन और बिक्री को लेकर दिल्ली हाई कोर्ट के वकील विनीत जिंदल ने अपने वकील राज किशोर चौधरी के जरिए याचिका दायर की थी।

याचिकाकर्ता ने कोर्ट में दायर याचिका में कहा गया है कि सलमान खुर्शीद ने अपनी किताब में हिंदुत्व की तुलना कट्टर आतंकी संगठन आइएसआइएस और बोको हराम जैसे समूहों से की है। याचिकाकर्ता का कहना है कि लेखक की किताब में लिखी गई बातों से ऐसा लगता है कि हिंदू धर्म को आईएसआईएस और बोको हराम के बराबर ठहराया गया है। इससे देश के करोड़ों हिंदुओं की आस्था और पवित्र भावना को चोट लगी है।

उधर,अन्य याचिकाकर्ता हिंदू सेना के अध्यक्ष विष्णु गुप्ता ने दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट ने दायर याचिका में आरोप लगाया है कि पूर्व केंद्रीय मंत्री सलमान खुर्शीद की यह किताब न केवल हिंदू भावनाओं को भड़काने वाली है, बल्कि बड़ी संख्या में हिंदू धर्म के लोगों की धार्मिक भावनाओं को भी आहत करती है।

उन्होंने किताब के चैप्टर-60 के पेज नंबर 113 का जिक्र करते हुए कहा कि खुर्शीद ने हिंदुत्व की तुलना आतंकी संगठन आइएस और बोको हराम से की है। इस तरह का बयान सामाजिक एकता और करोड़ों हिन्दुओं की भावनाओं को आहत करता है।

Share.

Comments are closed.