BHU के सीएचएस (Central Hindu School ) में बच्‍चों का एडमिशन कराने के नाम पर उनके साथ कुकर्म करने का मामला सामने आया है।

आरोपी ने नाबालिग बच्चों के साथ कुकर्म को अंजाम दिया तो पुलिस ने आरोपित के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। पुलिस के अनुसार सभी बच्‍चे चौबेपुर थाना क्षेत्र के रहने वाले हैं। वहीं आरोपित जंसा थाना क्षेत्र का रहने वाला है। इस बाबत लंका थाने में पुलिस ने मुकदमा दर्ज किया है।

बीएचयू एनसीसी और सीएचएस में दाखिला कराने के नाम पर कई छात्रों को झांसे में लेकर आरोपित के खिलाफ उनसे पैसे लेने के अलावा अप्राकृतिक दुष्कर्म का मामला लंका थाने में दर्ज हुआ है।

गंगापुर का रहने वाला मुरारी लाल गौड़ बीएचयू से ग्रेजुएशन करने के बाद दाखिला के नाम पर बच्चों को शिकार बनाकर उनका शोषण करता था।

आरोप है कि चौबेपुर क्षेत्र के रहने वाले पांच छात्रों जिसकी उम्र 15 वर्ष से कम है उनको दाखिला के नाम पर बीएचयू परिसर की झाड़ियों में ले जाकर अप्राकृतिक दुष्कर्म किया था। पीड़ित छात्रों ने जब आपबीती सुनाई तो परिवारीजनों ने लंका थाने में शिकायत की।

शिकायत के बाद आरोपित को पुलिस ने हिरासत में लेकर लंका थाने पर बैठाया। सोमवार की शाम आरोपित अचानक थाने से गायब हो गया।

कुछ देर बाद जब आरोपित युवक नहीं दिखा तो पुलिसकर्मियों में खलबली मच गई। जबकि आरोपी को पूछताछ के लिए लिखा पढ़ी में हिरासत में लिया गया था जो कार्यालय के मुंशी और दीवान को चकमा देकर निकल गया।

आरोपित के फरार होने के समय थाने के गेट पर तैनात संतरी को भी इसकी भनक तक नहीं लग पाई थी। काफी खोजबीन के बाद रविदास गेट के पास पुलिसकर्मियों की नजर आरोपी पर पड़ी तो फिर दोबारा हिरासत में लेकर उसे थाने ले गए।

आरोपी के पकड़े जाने के बाद पुलिसकर्मियों ने राहत महसूस की। इस बारे में पूछने पर प्रभारी इंस्पेक्टर लंका महातम यादव ने बताया कि हिरासत में लिया गया आरोपी युवकों से दाखिला कराने के नाम पर पैसा लिया है।

जिसको शिकायत के बाद थाने पर बैठाया गया था जो टहलते हुए वहां से चला गया था। पुलिस के अनुसार इस बाबत शीर्ष अधिकारियों को भी अवगत करा दिया गया है।

Share.

Comments are closed.