मुंबई : एनसीपी नेता (NCP Leader) और महाराष्ट्र सरकार में मंत्री नवाब मलिक (Nawab Malik) ने एक बार फिर नार्कोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (NCB) के अफसर समीर वानखेड़े (Sameer Wankhede) पर हमला बोला है.

नवाब मलिक का कहना है कि एक अज्ञात एनसीबी अधिकारी (unnamed NCB official) ने उन्हें चिट्ठी भेजी है. उनके अनुसार इस चिट्ठी में बताया गया है कि कई लोगों को झूठे मामलों में फंसाया (Framed in False Cases) जा रहा है और एनसीबी के दफ्तर में ही पंचनामा (Panchnama) तैयार किया जा रहा है.

नवाब मलिक ने इस संबंध में बताया कि वह इस चिट्ठी को डीजी नार्कोटिक्स (DG Narcotics) को भेज रहे हैं और उनसे अनुरोध करेंगे कि एनसीबी अधिकारी समीर वानखेड़े (NCB officer Sameer Wankhede) के खिलाफ होने वाली जांच में इस चिट्ठी को शामिल किया जाए. हम इस मामले में जांच की मांग करते हैं.

नवाब मलिक ने समीर वानखेड़े पर आरोप लगाया कि वह मुंबई और ठाणे में दो व्यक्तियों के माध्यम से कुछ लोगों के फोन अवैध रूप से इंटरसेप्ट कर रहे हैं.

इससे पहले नवाब मलिक ने आर्यन खान ड्रग्स मामले की जांच कर रहे NCB अधिकारी समीर वानखेड़े (Sameer Wankhede) पर उनके जन्म प्रमाण पत्र को लेकर हमला बोला था. नवाब मलिक ने समीर वानखेड़े पर फर्जी जन्म प्रमाण पत्र का आरोप लगाया था. महाराष्ट्र सरकार के मंत्री नवाब मलिक के उस ट्वीट देते हुए समीर वानखेड़े ने कहा कि मैं हैरान हूं, दुखी हूं कि एक मंत्री की सोच कितनी घटिया है.

गौरतलब है कि नवाब मलिक ने समीर वानखेड़े को समीर दाऊद वानखेड़े बताते हुए उनका एक कथित जन्म प्रमाणपत्र ट्वीट किया था. इस पर समीर वानखेड़े ने कहा, मुझे अपने जन्म प्रमाण पत्र को लेकर नवाब मलिक के एक ट्वीट के बारे में पता चला. यह उन सभी चीजों को लाने का एक घटिया प्रयास है, जिसका इस केस से कोई लेना-देना नहीं है.

एनसीबी अधिकारी ने कहा मैं एक धर्मनिरपेक्ष परिवार से ताल्लुक रखता हूं. मेरे पिता एक हिंदू हैं और मेरी मां मुस्लिम थीं. ट्विटर पर मेरे व्यक्तिगत दस्तावेजों को लेकर ट्वीट करना मानहानि और मेरी पारिवारिक गोपनीयता का हनन है. महाराष्ट्र के मंत्री नवाब मलिक के निंदनीय हमलों से आहत हूं.

Share.

Comments are closed.