केंद्रीय पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने शुक्रवार को यह बात दोहराई कि पेट्रोलियम उत्पाद पर लगने वाली एक्साइज ड्यूटी से कोविड-19 वैक्सीन और पब्लिक वेलफेयर स्कीम्स की फंडिंग हो रही है।

पुरी ने शुक्रवार को कहा कि वैश्विक बाजार में तेल की कीमतें उस समय तक गिरने की उम्मीद है, जब भारत अपनी पूरी आबादी को टीका लगा देगा। उन्होंने इस बात की ओर संकेत दिया कि उस समय टैक्स में कटौती करने की जरूरत नहीं पड़ेगी।

मंत्री जी का साफ संकेत था कि जो मुक्त में मिल गया है उसका भुगतान कर रहे, इसके बाद सवाल यह उठता है कि क्या मंत्री जी कहना चाह रहे हैं कि जनता मुफ्त खोर है ? लेकिन जिन लोगो ने वैक्सीन पैसा देकर लगवाया और राशन नहीं पाया उनको इस महंगाई का सामना क्यों करना पड़ रहा है।

Share.

Comments are closed.