लखीमपुर खीरी में पलियाकलां स्टेशनों के बीच शारदा नदी के तेज फ्लो में बोझवा गांव के पास करीब दो सौ मीटर रेल पटरी धंसकर टेढ़ी हो गई है। जबकि सड़के ताल बन गयी है।

लोगो को आने जाने में बहुत परेशानी है तो लोग भैसा गाडी पर मोटर साइकिल रखकर सड़क पर चल रहे है। पानी के तेज बहाव में सुतिया पुल नंबर 98 के आगे पलिया साइड किमी संख्या 239 (0 से 2) के पास करीब दो सौ मीटर रेल पटरी धंसकर टेढ़ी होकर पानी में डूब गई।

नदी का पानी ट्रैक के ऊपर और नीचे से होकर तेज धार में चल रहा है। रेल ट्रैक का मैटीरियल पानी के बहाव में बह गया है। इसके अलावा किमी संख्या 247 (0 से 1) 242 से 247 तक भी रेल ट्रैक के पास कटान हो रहा है। मौके पर मिले सहायक मंडल अभियंता मैलानी लाल बहादुर ने बताया कि बहराइच, नानपारा, सीतापुर, लखीमपुर, मैलानी, बिसवां के 117 ट्रैकमैन और 65 निजी मजदूरों को बचाव कार्य में लगाया गया है।

वंही पलिया से लखीमपुर जाने वाले मार्ग पर राब्तापुल के पास रोड का बुरा हाल है यंहा सड़क पर पानी बाह रह है। जिसके बाद आवागमन में बहुत समस्या है लोग की मोटर साइकिल बंद हो जाती है पानी में जिसके लिए भैसा गाडी पर मोटरसाइकिल लाड कर सफर कर रहे है।

Share.

Comments are closed.