लखीमपुर हिंसा मामले पर केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्रा टेनी को भारत सरकार में मंत्री पद से हटाकर तत्काल गिरफ्तार किए जाने की मांग को लेकर संयुक्त किसान मोर्चा ने सोमवार को 6 घंटे देशव्यापी रेल रोको आह्वान किया है।

इस आह्वान के बाद ट्रेन से सफर करने वालों को थोड़ी दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है। किसान मोर्चा अपनी मांगों को लेकर जोर-शोर से विरोध प्रदर्शन करने की योजना बना चुका है। वहीं मोर्चा ने साफ कर दिया है कि लखीमपुर खीरी किसान हत्याकांड में जब तक न्याय नहीं मिल जाता तब तक प्रदर्शन लगातार तेज होता जाएगा।

एसकेएम ने बयान जारी कर कहा है, सोमवार को 6 तक घंटे रेल रोको कार्यक्रम रहेगा, इसके तहत पूरे भारत में सुबह 10 से शाम 4 बजे तक रेल सेवाएं बाधित रहेंगी। रेल रोको पूरी तरह से शांतिपूर्ण रहेगा रेल संपत्ति को कोई क्षति नहीं पहुंचाई जाएगी।

भारतीय किसान यूनियन के उत्तरप्रदेश अध्यक्ष राजवीर सिंह जादौन ने आईएएनएस को बताया, हमने अपने संगठन के लोगों से रेल रोको कार्यक्रम की रूप रेखा बनाई है। सभी जिलों के किसान नेताओं को जरूरी दिशानिर्देश दे दिए गए हैं। जिला स्तर पर हमारे किसान रेल्वे स्टेशनों पर जाकर रेल सेवाएं बाधित करेंगे।

दरअसल, बीते 3 अक्टूबर को लखीमपुर खीरी हिंसा के तुरंत बाद ही संयुक्त किसान मोर्चा ने घटना में न्याय सुनिश्चित करने के लिए कई कार्यक्रमों की घोषणा की थी। मोर्चा के सभी नेताओं ने अजय मिश्रा टेनी को मोदी सरकार में मंत्रिपरिषद से बर्खास्त करने की मांग की है। एसकेएम के मुताबिक, अजय मिश्रा के केंद्र सरकार में गृह राज्यमंत्री होने के कारण, इस मामले में न्याय सुनिश्चित नहीं किया जा सकता है।

हालांकि किसानों की ओर से रेल रोको आह्वान के बाद रेलवे अधिकारियों ने भी पूरी तैयारियां की हैं। रेलवे स्टेशनों की सुरक्षा को लेकर उच्चस्तरीय अधिकारियों ने सुरक्षा बलों के अधिकारियों से विचार-विमर्श भी किया गया है।

Share.

Comments are closed.