जिले के बड़ौत कोतवाली क्षेत्र के बिनौली रोड स्थित सूर्य नगर में शुक्रवार को परचून व्यापारी ने तमंचे दे गोली मारकर अपनी जान दे दी।

गोली की आवाज सुनकर आसपास के लोग दुकान पर पहुंचे तो दुकान के अंदर व्यापारी लहूलुहान शव पड़ा दिखाई दिया।

इसके बाद लोगों ने व्यापारी के परिजन को घटना की जानकारी दी। आनन-फानन में परिजन मौके पर पहुंचे तो दुकान के अंदर संदीप का शव पड़ा देखकर कोहराम मच गया।

कोतवाली बड़ौत प्रभारी रवि रतन सिंह ने बताया कि मूल रूप से छपरौली थाना क्षेत्र के तुगाना गांव का रहने वाला 35 वर्षीय संदीप पुत्र रूपचंद बड़ौत के सूर्यनगर में रहता था।

उसके मामा यशपाल आदि ने ही उसे बड़ौत में दुकान दिलाने के साथ-साथ किराना की दुकान भी खुलवा रखी थी। दुकान और मकान कुछ दूरी पर हैं।

संदीप कई माह से कोरोना काल में दुकान न चलने से परेशान था, जिसके कारण वह मानसिक तनाव में आ गया था। संदीप के पिता रूपचंद दिल्ली में मजदूरी करते हैं।

संदीप दुकान में आया तो तमंचे से सीने पर गोली मारकर आत्महत्या कर ली। संदीप के शव के पास से ही 12 बोर का तमंचा बरामद कर लिया है।

संदीप अपने माता-पिता का इकलौता बेटा था। उसके दो छोटी बेटियां भी हैं। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

Share.

Comments are closed.