ऑल इंडिया मजलिस ए इत्तेहादुल मुस्लिमीन के चीफ असदुद्दीन ओवैसी ने वीडी सावरकर पर दिए बयान के लिए राजनाथ सिंह पर पलटवार किया है। असदुद्दीन ओवैसी ने राजनाथ सिंह पर इतिहास को तोड़ मरोड़कर पेश करने का आरोप लगाया है. ओवैसी ने कहा है कि एक दिन ये लोग सावरकर को राष्ट्रपिता का दर्जा दे देंगे।

ओवैसी ने क्या-क्या कहा है ?

जब ओवैसी से राजनाथ सिंह के बयान पर प्रतिक्रिया पूछी गई तो उन्होंने कहा, ”ये लोग इतिहास को तोड़कर पेश कर रहे हैं. एक दिन ये लोग महात्मा गांधी को राष्ट्रपिता के दर्ज़े से हटाकर सावरकर को ये दर्ज़ा दे देंगे. न्यायाधीश जीवन लाल कपूर की जांच में सावरकर को गांधी की हत्या में शामिल पाया गया था.”

राजनाथ सिंह ने क्या कहा था ?

राजनाथ सिंह ने उदय माहूरकर और चिरायु पंडित की पुस्तक ”वीर सावरकर हु कुड हैव प्रीवेंटेड पार्टिशन” के विमोचन कार्यक्रम में कहा था कि विचारधारा के चश्मे से देखकर वीडी सावरकर के योगदान की उपेक्षा करना और उन्हें अपमानित करना क्षमा योग्य और न्यायसंगत नहीं है. राजनाथ सिंह ने दावा किया कि सावरकर ने महात्मा गांधी के कहने पर अंग्रेजों को दया याचिका दी थी.

राजनाथ सिंह ने आगे कहा, ” वीर सावरकर महानायक थे, हैं और भविष्य में भी रहेंगे. देश को आजाद कराने की उनकी इच्छा शक्ति कितनी मजबूत थी, इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि अंग्रेजों ने उन्हें दो बार आजीवन कारावास की सजा सुनाई, कुछ विशेष विचारधारा से प्रभावित लोग ऐसे राष्ट्रवादी पर सवालिया निशान लगाने का प्रयास करते हैं.” उन्होंने कहा कि कुछ लोग उन पर (सावरकर) नाजीवादी, फासीवादी होने का आरोप लगाते हैं लेकिन सच्चाई यह है कि ऐसा आरोप लगाने वाले लोग लेनिनवादी, मार्क्सवादी विचारधारा से प्रभावित थे और अभी भी हैं.

Share.

Comments are closed.