कहने को तो हरियणा के मुख्यमंत्री है मनोहर खटटर है लेकिन हरियाणा की जनता को मुख्यमंत्री फूटी आंखे नहीं सोभा देते है। तीन कृषि कानन के समर्थक के बाद हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर का चौतरफा विरोध हो रहा है।

प्रशासन तैयारियों में जुटा है, गोहाना को पुलिस छावनी में बदल दिया गया है। दूसरी ओर बुधवार सुबह किसान सीएम का विरोध करने पहुंच गए। सीएम के हेलिकॉप्टर के लिए ताऊ देवीलाल स्टेडियम में बनाए गए हेलीपैड पर किसान विरोध जताने पहुंच गए। पुलिस किसानों को रोकने का प्रयास कर रही है।

दूसरी ओर प्रशासन का कोई अधिकारी इसकी पुष्टि नही कर रहा कि सीएम आएंगे या नहीं। देवीलाल स्टेडियम में सीएम के लिए हेलीपैड जरूर तैयार किया गया है। सीएम के आगमन को लेकर प्रशासन का किसानों से सुलह का प्रयास विफल रहा।

सुबह एएसपी गोहाना निकिता खट्टर ने किसानों को बातचीत के लिए बुलाया । किसानों से अपील की गई कि वे धार्मिक कार्यक्रम में सीएम का विरोध न करें। करीब एक घंटे तक चली बैठक के बाद किसान प्रशासन को कोई आश्वासन दिए बिना बाहर निकल आए।

दूसरी तरफ भगवान वाल्मीकि त्रिकालदर्शी सोसायटी के अध्यक्ष दीपक आदित्य ने कहा कि किसान दोहरी मानसिकता अपनाकर कार्यक्रम को फेल करना चाहते हैं। उनकी किसान नेताओं के साथ पांच बार बैठक हो चुकी है।

बैठक में वे समर्थन करने की बात कहते हैं और बाहर विरोध करने की। यही नहीं किसान नेता कार्यक्रम में आकर प्रसाद ग्रहण करने के साथ ही समाज को चंदा एकत्रित करने की बात भी कहते हैं। दीपक ने कहा कि इससे पहले किसानों ने न समाज की आवाज उठाई, न भगवान वाल्मीकि का प्रकटोत्सव मनाया।

Share.

Comments are closed.