बाराबंकी में आज भारतीय किसान यूनियन का वार्षिक सामूहिक विवाह समारोह का आयोजन हुआ। सामूहिक विवाह समारोह में भारतीय किसान यूनियन के प्रवक्ता राकेश टिकैत भी पहुंचे। इस दौरान राकेश टिकैत ने केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि देश का किसान नरेंद्र मोदी सरकार को दस में से जीरो नंबर देगा। टिकैत ने कहा कि अगर 2024 तक नरेंद्र मोदी देश के प्रधानमंत्री बने रह गए तो या देश बिक जाएगा। कोयले की कमी पर भी नरेश टिकैत ने कहा कि बिजली को भी प्राइवेट हाथों में देने की तैयारी है जिसके बाद बिजली के रेटों में तेजी से बढ़ोतरी की जाएगी।

राकेश टिकैत ने कहा कि 26 अक्टूबर को भारतीय किसान यूनियन लखनऊ में बहुत बड़ी पंचायत करने जा रही है। खेत ने कहा कि किसान पंचायत मैं हमारी मांग रहेगी कि केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा टेनी का इस्तीफा लिया जाए और गिरफ्तार करके आगरा जेल में बंद किया जाए। राकेश टिकैत ने केंद्रीय गृह राज्य मंत्री के बेटे आशीष मिश्रा की गिरफ्तारी पर तंज कसते हुए कहा कि या गिरफ्तारी रेड कार्पेट पर की गई है और फूलों के गुलदस्ते के साथ उससे पूछताछ की जा रही है। राकेश टिकैत ने कहा कि अगर हमारी मांगे नहीं पूरी हुई तो भारतीय किसान यूनियन एक बार फिर बड़ा आंदोलन करेगी।

कृषि कानून को लेकर राकेश टिकैत ने एक बार फिर केंद्र सरकार पर निशाना साधा और कहा कि यही सरकार इस कानून को वापस लेगी। किसान आंदोलन को लेकर राकेश टिकैत ने कहा कि अगर 10 साल भी हमें आंदोलन चलाना पड़ा तो हम उसे चलाएंगे। सरकार द्वारा मांगे न मानने पर राकेश टिकैत ने कहा कि सरकार आज जो है कल नहीं रहेगी लेकिन किसान था है और रहेगा। राकेश टिकैत ने केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार को किसान दस में से जीरो नंबर देगा। उन्होंने कहा कि अगर दौरा 24 तक नरेंद्र मोदी देश के प्रधानमंत्री रहे तो यह देश बिक जाएगा। वहीं 2022 के यूपी विधानसभा चुनाव को लेकर उन्होंने कहा कि आचार संहिता लगने के बाद ही हम अपनी रणनीति तय करेंगे। वही कोयले की कमी के चलते ब्लैकआउट की संभावना पर राकेश टिकैत ने कहा कि सरकार बिजली को प्राइवेट हाथों में बेचने वाली है। जिसके बाद रेट भी बढ़ा दिए जाएंगे। ₹7 यूनिट बिजली के दाम बढ़ाकर ₹15 प्रति यूनिट कर दिए जाएंगे।

साथ ही सामूहिक विवाह कार्यक्रम को लेकर राकेश टिकैत ने कहा कि भारतीय किसान यूनियन का यह कार्यक्रम भी एक सामाजिक आंदोलन की तरह है जो हर साल होता चला आ रहा है। यह टीम वर्क है जिसमें पुलिस प्रशासन के साथ ही सभी का पूरा सहयोग है। इस तरह का कार्यक्रम सामाजिक आंदोलन की तरह लगातार चलते रहना चाहिए।

Share.

Comments are closed.