पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और दो अन्य विधायकों ने आज विधानसभा सदस्य के तौर पर शपथ ली। इसी के साथ उनकी कुर्सी पर संकट भी दूर हो गया है। सीएम ममता ने 30 सितंबर को हुए उपचुनाव में भवानीपुर सीट से जीत हासिल की थी। इस साल हुए विधानसभा चुनाव में ममता को नंदीग्राम से हार मिली थी जिसके बाद उन्होंने भवानीपुर सीट पर उपचुनाव लड़ा था।

ममता बनर्जी को पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने विधायक पद की शपथ दिलाई। ममता के अलावा टीएमसी के नए विधायक अमीरुल इस्लाम और जाकिर हुसैन ने भी आज शपथ ली।

राज्यपाल ने विधानसभा अध्यक्ष से वापस ले ली थी शक्ति
राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने नियमों में बदलाव करते हुए विधानसभा स्पीकर से शपथ दिलवाने की शक्ति वापस ले ली थी, जिस पर खासा विवाद भी हुआ था। इसके बाद आज उन्होंने खुद शपथग्रहण करवाया।

सीएम ममता बनर्जी ने भवानीपुर उपचुनाव में भाजपा प्रत्याशी प्रियंका टिबरेवाल को भारी अंतर से हराया था। इससे पहले विधानसभा चुनाव में नंदीग्राम सीट पर ममता बनर्जी को भाजपा प्रत्याशी शुभेंदु अधिकारी ने मात दी थी। मुख्यमंत्री बने रहने के लिए ममता का विधायक चुना जाना जरूरी था। इसके बाद टीएमसी विधायक ने भवानीपुर सीट खाली कर दी और यहां उपचुनाव में ममता ने जीत हासिल की। यहां उपचुनाव के दौरान टीएमसी और भाजपा के बीच जमकर वाकयुद्ध चला था। मतदान के दिन कुछ जगहों पर खासा हंगामा भी हुआ था।

Share.

Comments are closed.