कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी और प्रियंका गांधी को लखीमपुर जाने की इजाजत मिल गई है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के साथ अफसरों की हुई उच्च स्तरीय बैठक में यह निर्णय लिया गया। राहुल गांधी पांच लोगों के साथ लखीमपुर में दो पीड़ित परिवारों से मिलेंगे। वह थोड़ी देर में लखनऊ पहुंचने वाले हैं।

इसके पहले राहुल गांधी ने लखीमपुर खीरी में हुई हिंसा, प्रियंका गांधी वाड्रा को हिरासत में लिए जाने और पार्टी के कुछ अन्य नेताओं को उत्तर प्रदेश में जाने से रोके जाने की पृष्ठभूमि में बुधवार को दावा किया कि भारत में लोकतंत्र हुआ करता था, लेकिन अब तानाशाही है।

उन्होंने यह आरोप भी लगाया कि उत्तर प्रदेश में अपराधियों खुले घूमने की आजादी है, जबकि पीड़ितों को जेल में डाल दिया जाता है। राहुल गांधी ने संवाददाताओं से बातचीत में बताया कि वह छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी के साथ लखीमपुर खीरी जाकर पीड़ित परिवारों से मिलने का प्रयास करेंगे।

Share.

Comments are closed.