दरअसल मामला जनपद मुजफ्फरनगर के कोतवाली क्षेत्र के मिमलाना रोड स्थित एक पीड़ित का है जहां एक युवक ने बैंक के के क्रेडिट कार्ड पर ₹139000 का लोन लिया हुआ था जो विगत दिनों लोक डाउन के के कारण वह चुकाने में असमर्थ रहा क्योंकि करोना के सभी की आर्थिक

स्थिति खराब हो चुकी थी इसी वजह से मृतक अनुज वर्मा(34) बैंक का कर्जा नहीं चूका पाया जिस वजह से बैंक के अधिकारियों ने उसे मानसिक रूप से प्रताड़ित किया और वहीं से वह बैंक के कर्मचारी रोज धमकिया भी दे रहे थे जिस कारण अनुज वर्मा ने कर्ज ना चुका पाने कि

वजहा से अपनी जान गवा दि जिस कारण आज परिवार में पूरा गमगीन माहौल है बताया जा रहा है कि अनुज एक मेडिकल कंपनी में जॉब करता था और अभी तक शादी भी नहीं की थी मृतक के भाई सचिन वर्मा ने बताया कि उसकी शादी कि बात चल रही थी

Share.

Comments are closed.