कांग्रेस की पंजाब यूनिट के अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू ने बुधवार को कहा कि पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) को हिरासत में लेने के बाद 54 घंटे का वक्त बीत चुका है, लेकिन उन्हें कोर्ट के सामने पेश नहीं किया गया है. सिद्धू ने कहा कि 24 घंटे से ज्यादा गैरकानूनी तरीके से हिरासत में रखना मौलिक अधिकारों का सीधा उल्लंघन है। प्रियंका गांधी सोमवार सुबह जब उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी में हुई हिंसा में मारे गए किसानों के परिवारों से मिलने जा रही थीं तब उन्हें सीतापुर में हिरासत में ले लिया गया था।

नवजोत सिंह सिद्धू ने ट्विटर पर लिखा, ’54 घंटे बीत गए हैं!! प्रियंका गांधी जी को किसी कोर्ट के सामने पेश नहीं किया गया है… 24 घंटे से ज्यादा गैरकानूनी तरीके से हिरासत में रखना मौलिक अधिकारों का साफ-साफ उल्लंघन है. बीजेपी और यूपी पुलिस, आप हमारे मौलिक मानवाधिकारों का हनन कर संविधान के मूल्यों का उल्लंघन कर रहे हैं.’

इससे पहले मंगलवार को सिद्धू ने चेतावनी दी थी कि यदि प्रियंका गांधी को बुधवार तक रिहा नहीं किया गया और केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा के बेटे को किसानों की हत्या के लिए गिरफ्तार नहीं किया गया तो कांग्रेस की पंजाब इकाई उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी के लिए कूच करेगी. सोमवार को सिद्धू ने इस घटना के विरोध में पंजाब के राजभवन के बाहर कई पार्टी विधायकों के साथ प्रदर्शन किया था।

कांग्रेस ने प्रियंका गांधी को हिरासत में लिए जाने पर सवाल उठाया है. इस बीच अधिकारियों ने मंगलवार को कहा कि प्रियंका गांधी और 10 अन्य के खिलाफ शांति भंग होने की आशंका के चलते मामला दर्ज किया गया है।

यूपी पुलिस ने इस मामले में प्रियंका गांधी के अलावा दीपेंद्र हुड्डा, यूपी कांग्रेस के अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू के खिलाफ आईपीसी की धारा 151, 107 और 116 के तहत FIR दर्ज की है. मंगलवार को सीतापुर गेस्ट हाउस के बाहर सुबह से कांग्रेस के सैकड़ों कार्यकर्ता धरने पर बैठ गए.

Share.

Comments are closed.