सातवीं कक्षा के एक छात्र दीपांकर सरकार ने दुर्गा प्रतिमा बनाकर अपनी कला का अद्भुत उदाहरण पेश किया है।

दीपांकर सरकार 12 साल की उम्र से मूर्तियाँ बना रहा है।वह फालाकाटा प्रखंड के जटेश्वर 2 ग्राम पंचायत के नव नगर इलाके का रहने वाला है।

दीपांकर के दुर्गा प्रतिमा निर्माण का कार्य लगभग पूरा होने वाला है। वह पहले भी विश्वकर्मा, लक्ष्मी और काली की मूर्तियाँ बना चुका है।

पता चला है कि दीपांकर जब पांचवी कक्षा में पढ़ता था, तब स्कूल के सामने मूर्ति बनाने की फैक्ट्री में टिफिन टाइम बिताता था। दीपांकर ने पेशेवर कुम्हारों का काम देखकर मूर्ति बनाना सीखा है।

तब से लेकर अब तक उन्होंने हर साल अभिनव मूर्तियाँ बनाकर सबको हैरानी में डाल दिया है।

पारिवारिक सूत्रों के अनुसार दीपांकर ने इसी साल डेढ़ फुट की दुर्गा प्रतिमा बनाई है। । उनके हाथ से बनी मूर्ति पर किसी सांचे का प्रयोग नहीं किया गया है। वह पुआल और मिट्टी से ही मूर्तियाँ बनाता है।

दीपांकर ने कहा, “वह मिट्टी, पुआल, धागे, लकड़ी आदि से दुर्गा की मूर्तियाँ बना रहा है। उन्हें विभिन्न प्रकार की मूर्तियाँ बनाना पसंद है। उन्होंने कहा कि परिवार में सभी लोग इस काम में सहयोग करते हैं।”

Share.

Comments are closed.