मवाना में परीक्षितगढ़ थाना क्षेत्र के अहमदपुरी गांव में निर्माणाधीन बिजलीघर में काम कर रहे दो सिख मजदूरों ने दो दिन बंधक बनाए रखने और केश नोचने का आरोप लगा थाने पर हंगामा किया।

सिख कारीगरों का कहना है कि ठेकेदार ने सरिया चोरी करने का आरोप लगाकर दोनों को मारा पीटा और प्रताड़ित किया। पीड़ितों ने इस संबंध में थाने में तहरीर दी है।

थाना परीक्षितगढ प्रभारी दारोगा मोहसीन खान ने पीड़ितों को जांच के बाद कार्रवाई का आश्वासन दिया।

यह है मामला
अहमदपुरी गांव में बिजली घर निर्माण का कार्य ठेकेदार लक्ष्य सोनी व उसके साथी देवेंद्र व राहुल तोमर करा रहे हैं। जिस पर दिल्ली के मोहल्ला कल्याण पुरी निवासी विक्रम सिंह व मुकेश सिंह भी ट्रैक्टर चालक की नौकरी करते हैं।

आरोप है कि उन्होंने दो दिवस पूर्व ठेकेदार से मजदूरी के पैसे मांगे लेकिन पैसे देने की बजाय उल्टे 7 टन लोहा व सरिया चोरी करने का आरोप लगा दिया। जब वह घर जाने लगे तो बंधक बना लिया और उनके केश भी नोच लिए।

ठेकेदार के खिलाफ कार्रवाई की मांग

सोमवार देर शाम उन्हें पुलिस को भी सौंप दिया। सूचना पर आज मंगलवार सुबह परिजन स्थानीय सिख समाज के लोगों के साथ थाने पहुंचे और इस बीच नगर पंचायत चेयरमैन अमित मोहन भी पहुंच गए।

जहां परिजनों ने हंगामा किया और आरोपित ठेकेदार के खिलाफ कार्रवाई की मांग करते हुए तहरीर दी। थाने में बैठे दोनों लोगों को छोड़ दिया। एसओ का चार्ज देख रहे दारोगा मोहसीन खान ने जांच के बाद कार्रवाई का आश्वासन दिया।

Share.

Comments are closed.