लखीमपुर खीरी में रविवार को प्रदर्शनकारी किसानों को गाड़ी से रौंदने के आरोपी आशीष मिश्र (केंद्रीय मंत्री अजय मिश्र के बेटे) के खिलाफ हत्या का केस दर्ज कर लिया गया है। इस बीच किसानों पर गाड़ी चढ़ाने का एक नया वीडियो सामने आया है।

सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे इस वीडियो में दिख रहा है कि गाड़ी की टक्कर के बाद कुछ किसान जमीन पर गिर गए, वहीं कुछ बचने के लिए हांथ-पांव मारते नजर आए और मौके पर अफरातफरी मच गई।

वीडियो में दिख रहा है कि किसान हाथों में झंडे लिए आगे बढ़ रहे हैं, तभी एक जीप सायरन बजाते हुए पीछे से आती है और कई लोगों को रौंदते हुए आगे बढ़ जाती है। तेज रफ्तार जीप की टक्कर से कई लोग घायल हो गए।

जीप की टक्कर के बाद एक बुजर्ग उछलकर बोनट पर जा गिरे और फिर जमीन पर गिर गए। वीडियो में जीप के पीछे एक SUV भी नजर आ रही है।

ये वीडियो सामने आने के बाद विपक्षी नेताओं ने बीजेपी पर निशाना साधना शुरू कर दिया है। पहले आम आदमी पार्टी के सांसद संजय सिंह और फिर कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने ये वीडियो सोशल मीडिया पर शेयर किया है।

हालांकि पुलिस ने इस वीडियो की पुष्टि नहीं की है, न ही ये साफ है कि गाड़ी कौन चला रहा था। बता दें लखीमपुर खीरी में हुई हिंसा में 4 किसानों समेत 8 लोगों की मौत हो गई थी।

बीजेपी सांसद वरुण गांधी बोले- आत्मा को झकझोर देने वाला है वीडियो
किसानों पर गाड़ी चढ़ाने के वायरल वीडियो पर बीजेपी सांसद वरुण गांधी ने कहा है कि, ‘किसानों को गाड़ियों से जानबूझकर कुचलने का यह वीडियो किसी की भी आत्मा को झकझोर देगा।

पुलिस इस वीडियो का संज्ञान लेकर इन गाड़ियों के मालिकों, इनमें बैठे लोगों, और इस प्रकरण में संलिप्त अन्य व्यक्तियों को चिन्हित कर तत्काल गिरफ्तार करे।

केंद्रीय मंत्री के बेटे समेत 14 लोगों के खिलाफ हत्या का केस दर्ज
लखीमपुर खीरी में हुई हिंसा के मामले में केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्र टेनी के बेटे आशीष मिश्र समेत 14 लोगों पर हत्या और आपराधिक साजिश का केस दर्ज किया गया है।

यह केस बहराइच के नानपारा के रहने वाले जगजीत सिंह की शिकायत पर तिकुनिया थाने में दर्ज हुआ है। दूसरी तरफ मंत्री अजय मिश्र के ड्राइवर की शिकायत पर तिकुनिया थाने में ही अज्ञात किसानों पर हत्या, जानलेवा हमला और मारपीट की धाराओं में केस दर्ज किया गया है।

सरकार और किसानों के बीच हुआ समझौता
लखीमपुर में सरकार और किसानों के बीच समझौता हो गया है। सरकार ने मृतकों के परिवार को 45 लाख रुपए मुआवजा देने का ऐलान किया है।

वहीं सभी मृतकों के परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी भी दी जाएगी। साथ ही घटना की न्यायिक जांच और 8 दिन में आरोपियों को गिरफ्तार करने का वादा भी किया गया है।

Share.

Comments are closed.