कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा () को धारा-144 के उल्लंघन पर गिरफ्तार किया गया है. रविवार को लखीमपुर खीरी में हुई हिंसा के बाद प्रियंका गांधी तिकुनिया गांव जाने के लिए निकली थीं. रविवार को लखीमपुर खीरी में हुई हिंसा के बाद प्रियंका गांधी तिकुनिया गांव जाने के लिए निकली थीं।

लेकिन, उन्हें हिरासत में लेकर सीतापुर गेस्ट हाउस शिफ्ट किया गया. इसको लेकर कांग्रेस ने हंगामा किया था. वहीं, प्रियंका गांधी ने ट्वीट करके केंद्र और राज्य की बीजेपी सरकार से सवाल पूछे थे। मंगलवार को भी प्रियंका गांधी ने वीडियो ट्वीट करके पीएम मोदी की लखनऊ यात्रा पर सवाल पूछे।

उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी की घटना के बाद पुलिस ने प्रियंका गांधी के अलावा कांग्रेस के उत्तर प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू, राष्ट्रीय महासचिव धीरज गुर्जर, यूथ कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष बीवी श्रीनिवास और एमएलसी दीपक सिंह को भी एहतियातन हिरासत में लिया। पुलिस की एफआईआर में जिक्र है कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी को लखीमपुर जाने के दौरान धारा-144 के उल्लंघन पर गिरफ्तार किया गया।

प्रियंका गांधी समेत 11 लोगों पर शांति भंग करने के तहत कार्रवाई की गई है. प्रियंका गांधी के अलावा कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू समेत 11 पर मुकदमा दर्ज किया गया है. वहीं, हरगांव कोतवाल बृजेश त्रिपाठी ने सभी पर कार्रवाई करते हुए धारा 107/16 के तहत 11 लोगों पर एफआईआर दर्ज की गई.ीती

सीतापुर में लगा कांग्रेस कार्यकर्ताओं का जमावड़ा

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी को सीतापुर में रोके जाने के बाद कांग्रेसियों का यहां आना तेज हो गया है. इसको देखते हुए पड़ोसी जिलों की पुलिस बुलाई गई है. जिले की सीमाओं पर नाकेबंदी की गई है. अभी भी प्रियंका गांधी पुलिस पहरे में हैं. उन्हें रिहा करने के लिए कांग्रेसियों की संख्या लगातार बढ़ रही है. शहर में सुरक्षा बढ़ा दी गई है. इसके साथ जनपद के 11 थानों की पुलिस को भी बुलाया गया है. एएसपी डॉ. राजीव दीक्षित का कहना है कि जिले में धारा 144 लागू है. शांति भंग करने वालों से पूरी सख्ती से निपटा जाएगा.

Share.

Comments are closed.