बेंगलुरु: पिछले हफ्ते बेलगाम में रेलवे ट्रैक के पास एक मुस्लिम युवक का क्षत-विक्षत शव मिलने के बाद एक दक्षिणपंथी हिंदू संगठन से जुड़े सात लोगों और एक हिंदू लड़की के पिता को हिरासत में लिया गया है. पुलिस सूत्रों ने इसकी जानकारी दी.

द टेलीग्राफ की रिपोर्ट के अनुसार, मृतक 24 वर्षीय अरबाज आफताब मुल्ला की मां नजीमा शेख ने कहा कि श्री राम सेना हिंदुस्तान के सदस्यों ने पहले धमकी दी थी कि अगर युवक ने हिंदू लड़की के साथ अपना रिश्ता नहीं तोड़ा तो नुकसान होगा. उन्होंने लड़की और सेना पर मिलीभगत करके उनके बेटे से जबरन वसूली का भी आरोप लगाया.

सूत्रों ने कहा कि 29 सितंबर को मुल्ला का शव मिलने के एक दिन बाद पुलिस ने घटनास्थल के पास से एक एम्बुलेंस जब्त किया था, जिसके शीशे पर श्रीराम सेना हिंदुस्तान लिखा था. हालांकि, पुलिस ने आधिकारिक तौर पर हिरासत में लिए गए लोगों के सेना से जुड़े होने की जानकारी नहीं दी है.

28 सितंबर को बेंगलुरू से करीब 500 किलोमीटर दूर बेलगाम जिले के खानापुर में एक रेलवे ट्रैक के पास मुल्ला का सिर और एक पैर कटा हुआ मिला था.

रेलवे पुलिस को संकेत मिले कि पीड़ित को हाथ बांधकर प्रताड़ित किया गया था और मामले को खानापुर पुलिस स्टेशन में स्थानांतरित कर दिया था. पोस्टमॉर्टम में मौत के कारणों के बारे में क्या कहा गया है, इसका पुलिस ने खुलासा नहीं किया है.

Share.

Comments are closed.