लखीमपुर खीरी कांड को लेकर पीड़ितों से मिलने जा रहीं कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी को गिरफ्तार किए जाने के विरोध में भारतीय राष्ट्रीय छात्र संगठन के सैकड़ों कार्यकर्ता आज सड़क पर उतर आए।

संगठन के राष्ट्रीय सचिव नावेद खान के नेतृत्व में कार्यकर्ताओं ने इलाइट चौराहे पर धरना देकर देश तथा प्रदेश की भारतीय जनता पार्टी की सरकार के खिलाफ प्रदर्शन करते हुए नारेबाजी की।

इस दौरान राष्ट्रीय सचिव ने कहा कि अभी तक इतिहास के पन्नों में यह पढ़ा जाता था कि जलियांवाला बाग तथा जनरल डायर जैसे केस हुए हैं, लेकिन प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री ने जनरल डायर को भी बहुत पीछे छोड़ दिया है।

जिस तरह से किसानों की हत्या के मामले को आत्महत्या के प्रयास में परिवर्तित करने की कोशिश की जा रही है, वह शर्मनाक है। एक तरफ योगी सरकार किसानों के हत्यारे मंत्री के पुत्र को गिरफ्तार नहीं कर पा रही है तो वहीं दूसरी ओर पीड़ितों के आंसू पोंछने जा रहीं कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव को गिरफ्तार कर रही है।

इतना ही नहीं, पिछले 2 दिनों से उन्हें लगातार जेल में रखे हुए हैं, जबकि दूसरी ओर समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव को सेटिंग कर 4 घंटे में रिहा कर दिया जाता है। उन्होंने कहा कि सरकार किसी भी प्रशासन की नहीं होती, इसलिए पुलिस प्रशासन को भी होश में आ जाना चाहिए, क्योंकि जिस तरह से आज लोकतंत्र खतरे में पड़ा हुआ है, वह समूची मानव जाति के लिए चिंता का विषय है।

Share.

Comments are closed.