झांसी । आज जिला जनकल्याण महासमिति झांसी एवं रानी झांसी फांऊडेशन झांसी के संयुक्त तत्वावधान में जन चेतना अभियान के तहत एक संगोष्ठी का आयोजन किया गया जिसमें केंद्रीय अध्यक्ष जितेंद्र कुमार तिवारी ने कहा कि वायु प्रदूषण बेहद भयावह है और इसके दुष्प्रभावों के बारे में हम सब जानते हैं ।

परंतु अभी तक इसे कम करने या इससे बचाव के लिए किसी भी सरकार ने गम्भीर कदम उठाने की इच्छा शक्ति दिखाई नहीं दी थी परंतु अब केंद्र व प्रदेश सरकार दोनों ही पर्यावरण संरक्षण की दिशा में गंभीरता से काम कर रहीं आदरणीय प्रधानमंत्री जी तो इस विषय बहुत गंभीर रहते और कई मौकों पर जन चेतना लाने का कार्य करते हैं। लेकिन हमारी भी जिम्मेदारी बनती है कि हम सभी इसके लिए आगे आये । वैज्ञानिक कहते रहे हैं कि प्रदूषित इलाकों में रहने वाले लोगों में श्वास तथा अन्य रोगों का जोखिम बहुत ज्यादा होता है ।


तमाम शोध बताते हैं कि वायु प्रदूषण मानव शरीर के प्रत्येक अंग को हानि पहुंचा सकता है। दूषित वायु से शरीर को सिर से पैरों तक हानि पहुंचती है। यह दिल व फेफड़ों की बीमारियों, डायबिटीज, डिमेंशिया, यकृत की समस्याओं एवं मूत्राशय के कैंसर, हड्डियों के शिथिल पडऩे और त्वचा तक को पहुंचने वाली हानि के लिए जिम्मेदार हो सकता है। बच्चे भी विषाक्त हवा से प्रभावित हो रहे हैं।


वायु प्रदूषण का अर्थ है किसी भी अनचाहे तत्व का सांस लेने वाली हवा में घुल जाना। सांस के साथ ये अनचाहे तत्व भी हमारे फेफड़ों और रक्त में प्रवेश कर जाते हैं और शरीर के सभी अंगों को हानि पहुंचाने का कार्य करते हैं ।


विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार वायु प्रदूषण एक ‘पब्लिक हैल्थ एमरजैंसी’ यानी ‘सार्वजनिक स्वास्थ्य आपातकाल’ है क्योंकि दुनिया की 90 प्रतिशत से अधिक आबादी जहरीली हवा में सांस ले रही है। इसकी वजह से प्रतिवर्ष लाखों असमय मौतें हो सकती हैं। कार्यक्रम संयोजिका स्वयं सहायता समूह की सदस्या श्रीमती रोशनी वर्मा एंव अनीता चौरसिया उपस्थित रहीं ।

संगोष्ठी में पर्यावरण संरक्षण का संकल्प लिया गया वहीं प्रकृति प्रेमी- पर्यावरण मित्र का प्रमाण पत्र देकर सम्मानित भी किया गया । इस मौके पर मुख्य रूप से प्रभा वर्मा,नारायनी देवी,कु सपना , रंजना वर्मा, नीलम, मीरा देवी , आदि उपस्थित रहे । आभार श्रीमती निर्मल तिवारी ने किया ।

Share.

Comments are closed.