लखीमपुर खीरी कांड को लेकर प्रगतिशील समाजवादी पार्टी ने जबरदस्त रोष व्यक्त किया है। पार्टी के जिला अध्यक्ष तथा युवजन सभा के प्रदेश अध्यक्ष के नेतृत्व में दर्जनों कार्यकर्ताओं ने इलाइट चौराहे पर धरना देकर भारतीय जनता पार्टी की सरकार पर किसान विरोधी सरकार

होने तथा दमनकारी नीतियां अपनाने का आरोप लगाया है। प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के दर्जनों कार्यकर्ताओं ने आज सुबह इलाइट चौराहे पर सड़क पर धरना शुरू कर दिया। इस दौरान उत्तर प्रदेश की योगी सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की गई। पार्टी के जिला अध्यक्ष

वीरेंद्र सिंह यादव ने कहा कि जिस तरह से लखीमपुर खीरी में किसानों की कुचलकर हत्या की गई है, उसने जलियांवाला बाग कांड को भी बौना साबित कर दिया है। अपनी मांगों को लेकर आवाज उठा रहे किसानों की आवाज के साथ उनकी जिंदगी भी खत्म की जा रही है। सरकार की

इस तानाशाही के खिलाफ प्रगतिशील समाजवादी पार्टी सड़क पर आ गई है। जब तक किसानों को न्याय नहीं मिल जाता, पार्टी का आंदोलन लगातार जारी रहेगा। उन्होंने कहा कि पार्टी की मांग है कि उन पुलिस कर्मियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जानी चाहिए, जो इस घटना के

दोषियों को बचाने की कोशिश कर रहे हैं। मंत्री के बेटे के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज होना चाहिए तथा मृतक किसानों के परिजनों को एक-एक करोड़ की मुआवजा राशि दी जानी चाहिए। पार्टी के युवजन सभा के प्रदेश अध्यक्ष अजय यादव ने कहा कि देश के नेताओं के साथ

इतनी क्रूरता संभवत देश के इतिहास में पहली बार हो रही है। प्रगतिशील समाजवादी पार्टी किसानों के साथ उनके हक की लड़ाई में हर कदम साथ खड़ी है। धरना प्रदर्शन कर रहे पार्टी के दर्जनों कार्यकर्ताओं को पार्टी के जिला अध्यक्ष तथा युवजन सभा के प्रदेश अध्यक्ष सहित पुलिस ने

हिरासत में ले लिया।

Share.

Comments are closed.