अखिलेश यादव को गिरफ्तार करने पर सपाई हुए आग बबूला-कहीं फूंका योगी का पुतला तो कलेक्ट्रेट पर प्रदर्शन कर मुख्यमंत्री गृहमंत्री व उपमुख्यमंत्री के इस्तिफे की करी मांग

लखीमपुर खीरी मे रविवार को किसान आन्दोलन के दौरान भाजपाइयों द्वारा कार से किसानो के आन्दोलन को कुचलने की घटना में पाँच किसानो की मृत्यु होने और अनेको के घायल होने की खबर मिलने पर सोमवार को समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री

अखिलेश यादव के मृत किसानो के परिजनो से मिलने निकले पर योगी सरकार के इशारे पर प्रशासन द्वारा अखिलेश यादव को गिरफ्तार करने की खबर जंगल मे आग की तरहा फैलते ही ज़िले भर मे सपाईयों ने जगहा जगहा प्रदर्शन करते हुए योगी आदित्यनाथ के इस्तिफे और अखिलेश

यादव को तुरंत रिहा करने की मांग करते हुए धरना दिया तो कई जगहों पर मुख्यमंत्री के पुतले को आग के हवाले करते हुए जम कर हमला बोला।सुभाष चौराहे पर युवजन सभा के प्रदेश उपाध्यक्ष संदीप यादव युवजन सभा के नगर अध्यक्ष सन्दीप सिंह सत्या सहित 17 लोगों को

लोहिया चौराहे पर मुलायम सिंह यूथ ब्रिगेड के प्रदेश सचिव यथांश केसरवानी के नेत्रित्व मे मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ का पुतला फूंकने पर गिरफ्तार कर पुलिस लाईन ले जाया गया जिनहे देर शाम रिहा कर दिया गया।वहीं किसान नौजवान पटेल यात्रा लेकर गंगापार के विधानसभा

क्षेत्रों मे निकले प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम पटेल ने फाफामऊ मे यात्रा रोक कर अखिलेश यादव की गिरफ्तारी को अलोकतांत्रिक करार देते हुए भाजपाईयों द्वारा किसानो पर गाड़ी चढ़ा कर मौत की नींद सुलाने वालों पर 302 का मुक़दमा क़ायम कर जेल भेजने की बात कहते हुए योगी

सरकार को बरखास्त करने की मांग की।वहीं प्रदेश अध्यक्ष के निर्देश पर समाजवादी पार्टी ज़िला व महानगर के पदाधिकारीयों व बड़ी संख्या मे अधिवक्ताओं ने कचैहरी से ज़िलाधिकारी कार्यालय तक विरोध प्रदर्शन करते हुए एडीएम सिटी को महामहिम राष्ट्रपति को सम्बोधित ज्ञापन

सौंपा।नगर महासचिव रवीन्द्र यादव रवि एडवोकेट के नेत्रित्व मे राष्ट्रपति से मांग की गई के मृत किसान परिवार से मिलने जा रहे सपा प्रमुख अखिलेश यादव को तत्काल प्रभाव से रिहा किया जाए । मृत किसानो परिवार को दो करोड़ रुपये आर्थिक मदद और परिवार के किसी एक

सदस्य को सरकारी नौकरी घायलों को दस दस लाख रुपये का मुआवजा दिया जाए।लखीमपुर की घटना की निन्दा करते हुए इस प्रकरण मे संलिप्त गृहमंत्री मंत्री व उपमुख्यमंत्री का भी इस्तिफा दिलवाया जाए।दोषियों के विरुद्ध आईपीसी की धारा 302 के तहत गिरफ्तार कर उनहे

जेल भेजा जाए।सपा के धरना प्रदर्शन के दौरान बालसन चौराहे से कलेक्ट्रेट तक जगहा जगहा बैरिकेटिंग कर बड़ी संख्या मे पुलिस तैनात रही लेकिन सपा कार्यकर्ता कचैहरी के अन्दर से होकर ज़िलाधिकारी के कार्यालय मे प्रवेश करने मे और धरना प्रदर्शन करने मे कामयाब रहे।

अधिक्तर सपा कार्यकर्ताओं मे अधिवक्ता भी थे तो पुलिस लाठी चलाने और गिरफ्तार करने मे नाकाम रही।विरोध प्रदर्शन के बीच पुलिस बैकफुट पर नज़र आई।सपाईयों ने धरना प्रदर्शन करते हुए मांगपत्र पढ़ कर सुनाया और महामहिम को तत्काल इस पर कार्यवाही करने की

मांग।कहा अगर हमारी मांगो को अनसुना किया गया तो और गम्भीर होकर सपाई सड़को पर उतर कर विरोध प्रदर्शन को बाध्य होंगे।इस दौरान रवीन्द्र यादव रवि ,दिनेश यादव ,ओ पी यादव ,अभिमन्यु पटेल ,विक्रम पटेल ,मो०हामिद ,आशीष पाल ,राजेश कुमार गुप्ता ,वक़ार

अहमद ,लल्लन सिंह पटेल ,काशान सिद्दीकी ,मो०गौस ,गणेश साहु ,सैफ फरीदी ,सै०मो०अस्करी , किताब अली ,ज़ामिन हसन ,जयभारत यादव ,बृजेश सिंह ,फरीदउद्दीन ,अनुप यादव ,मो०हसीब ,मो०आरिफ ,

सुनील यादव ,मोहित शुक्ला ,छोटू पासी ,शशीप्रकाश ,आशीष श्रीवास्तव ,अब्दुल अहद ,अरबाज़ अहमद ,कृपा शंकर बिन्द ,जितेन्द्र यादव ,अरुण कुशल ,पप्पू लाल निषाद ,रितेश जायसवाल ,श्यामू यादव आदि शामिल रहे।

Share.

Comments are closed.