पुलिस और सेल टैक्स की टीम ने सोमवार को नेशनल हाईवे पर लौंदा गांव के पास ट्रक से 44 बोरी सिगरेट पकड़ी। सिगरेट की खेप बिना कागजात के ले जाई जा रही थी।

इसके जरिए प्रशासन को लाखों रुपये राजस्व का चूना लगाया जा रहा था। मामले की छानबीन की जा रही है।

पुलिस को सूचना मिली कि हाईवे पर ट्रक में लाद कर भारी मात्रा में सिगरेट वाराणसी ले जाई जा रही है।

इस पर पुलिस अलर्ट हो गई। वहीं पुलिस व सेल टैक्स विभाग की टीम ने लौंदा के पास घेरेबंदी कर संदेह के आधार पर एक ट्रक की तलाशी शुरू कर दी।

ट्रक में 44 बोरियों में छिपाकर रखी गई सिगरेट बरामद की गई। अफसरों ने चालक से सिगरेट की रसीद व कागजात मांगे तो कुछ नहीं मिला।

चालक ने बताया कि विकास नाम का व्यक्ति सासाराम से ट्रक में सिगरेट लोड कराता था और वाराणसी में प्रभात नामक व्यक्ति इसे उतरवाता है।

इसके अलावा और कुछ नहीं पता। सीओ अनिल राय ने बताया कि बिना कागजात के सिगरेट की खेप बिहार से वाराणसी भेजी जाती थी।

ताकि किसी तरह का टैक्स न देना पड़े। ऐसा कर सरकार को लाखों रुपये राजस्व का चूना लगाया जा रहा था। मामले को सेलटैक्स को हैंडओवर कर दिया गया है। विभाग इसकी छानबीन कर उचित कार्रवाई करेगा।

Share.

Comments are closed.