प्रतापगढ़. यूपी के प्रतापगढ़ के संगीपुर में एक कार्यक्रम के दौरान बीजेपी और कांग्रेस कार्यकर्ता आपस में भिड़ गए. ‘गरीब कल्याण मेला’ में बीजेपी सांसद संगम लाल गुप्ता और कांग्रेस नेता प्रमोद तिवारी के समर्थकों में जमकर मारपीट हुई. हैरानी की बात ये है कि इस झड़प के दौरान दोनों नेता ही कार्यक्रम में मौजूद थे. इस मामले में शनिवार देर शाम भाजपा सांसद संगमलाल गुप्ता की तहरीर पर लालगंज कोतवाली में कांग्रेस नेता प्रमोद तिवारी, रामपुरखास से कांग्रेस विधायक आराधना मिश्रा मोना समेत 27 नामजद और 50 अज्ञात के खिलाफ जानलेवा हमला, बलवा समेत विभिन्न धाराओं में एफआईआर दर्ज की गई है.

बता दें कि सांगीपुर ब्लॉक सभागार में शनिवार को गरीब कल्याण मेले का आयोजन किया गया था. इसमें जारी हुए प्रोटोकॉल के मुताबिक सांसद संगमलाल गुप्ता को बतौर मुख्य अतिथि दोपहर एक बजे वहां पहुंचना था लेकिन वह देर से पहुंचे. इस बीच कांग्रेस नेता व पूर्व सांसद प्रमोद तिवारी एवं उनकी बेटी रामपुरखास विधायक आराधना मिश्र (मोना) लगभग 2 बजे कार्यक्रम स्थल पर पहुंच गईं. समर्थक नारेबाजी करते हुए उन्हें मंच तक ले गए. इसी के ठीक पांच मिनट बाद सांसद संगमलाल गुप्ता पहुंचे तो उनके समर्थक भी नारेबाजी करते हुए उन्हें मंच तक ले गए.

इसी से माहौल गरमा गया और दोनों के समर्थकों ने नारेबाजी करनी शुरू कर दी. अगले ही पल समर्थक एक-दूसरे से भिड़ गए और मारपीट शुरू हो गई. प्रमोद तिवारी से धक्कामुक्की हुई और आराधना मिश्र का मोबाइल फोन गायब हो गया. मारपीट से सभागार में भगदड़ मच गई. स्थितियां ऐसी हो गईं कि कार्यक्रम में पहुंचे बीजेपी सांसद संगम लाल गुप्ता को जान बचाकर भागना पड़ा. कहा जा रहा है कि सांसद को दौड़ा-दौड़ाकर पीटने की कोशिश की गई. इस क्रम में वे सड़क पर गिर गए. मारपीट के दौरान सांसद और उनके समर्थक बुरी तरह से जख्मी हो गए थे।

Share.

Comments are closed.