बंगाल की खाड़ी में प्रचंड रूप धारण कर चक्रवाती तूफान गुलाब आज आंध्र प्रदेश और ओडिशा के तट से टकराएगा। इसको लेकर ओडिशा की आपदा प्रबंधन एजेंसियां सक्रिय हो गई हैं।

ओडिशा (Odisha) के गोपालपुर और आंध्र प्रदेश (Andhra Pradesh) के विशाखापत्तनम तटों के बीच से रविवार को ‘गुलाब’ चक्रवात (Gulab cyclone) के गुजरने की आशंका है।

इसके मद्देनजर बचाव और राहत कार्यों के लिए उत्तर तटीय आंध्र जिलों में राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (NDRF) के तीन और राज्य आपदा मोचन बल (एसडीआरएफ) के एक दल को तैनात किया गया है।

सरकार की ओर से शनिवार को जारी एक विज्ञप्ति में कहा गया कि विशाखापत्तनम, विजयनगरम और श्रीकाकुलम जिलों में निचले इलाकों से लगभग 86,000 परिवारों को राहत शिविरों में स्थानांतरित करने की को योजना बनाई गई है। श्रीकाकुलम में एनडीआरएफ के दो दलों को तैनात किया गया है जहां चक्रवात का अधिक प्रभाव हो सकता है।

इसके अलावा विशाखापत्तनम में एक दल को तैनात किया गया है। विशाखापत्तनम में एसडीआरएफ के एक दल को भी आपातकालीन स्थिति के लिए तैयार रखा गया है.राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण ने इन जिलों के मछुआरों से 27 सितंबर तक समुद्र में न जाने को कहा है।

चक्रवाती तूफान के 29 सितंबर को बंगाल तट (West Bengal) के पर पहुंचने के आसार हैं. मौसम विभाग (IMD) का कहना है, “दक्षिण बंगालमें भारी वर्षा और तेज हवा के मामले में मौसम (Weather News) की गतिविधियां 28-29 सितंबर को बढ़ सकती हैं।

Share.

Comments are closed.