एक तरफ सरकार की योजना है कि हर किसी गरीब परिवार को रहने के लिए आवास मिलेगा लेकिन जनपद औरैया में तो गरीबों के मंसूबों पर जिम्मेदारों के द्वारा पानी फेरने का काम किया जा रहा है!

गरीबों की पहुंच से प्रधानमंत्री आवास दूर होता दिखाई दिया जहां पात्रों की जगह अपात्रों को रेवड़ी की तरह आवास बांटे जा रहे हैं पैसा दो आवास लो का खेल जारी है!

एक गरीब परिवार ने सभासद पर गंभीर आरोप मामले में लगाएं जहां आवास दिलाने के नाम पर पीड़ित परिवार से 50000 रुपयों की मांग की गई रुपए ना देने पर पात्र की जगह अपात्र बनाकर आवास ना देने और लिस्ट से नाम कटवा देने का आरोप है!

कोई भी गरीब व्यक्ति का दर्द सुनेगा तो वह भी हैरान रह जाएगा!

बता दें कि सरकार की ओर से शौचालय हेतु 12000 रुपए किस्त के रूप में मुहैया कराए जाते हैं लेकिन जिम्मेदारों ने पीड़ित परिवार को सिर्फ ₹8000 देकर शौचालय के नाम पर घोटाला कर डाला!

यहां तो चारों तरफ जिम्मेदार अपना ही विकास करने पर तुले हुए हैं पूरा मामला जनपद औरैया नगर पालिका सदर के वार्ड नंबर 17 भीकमपुर दयालपुर से निकल कर सामने आया है !

औरैया से संवाददाता राघवेंद्र सिंह की रिपोर्ट

Share.

Comments are closed.