ग्राम प्रधान के कार्यालय में गोली चलने से एक युवक की मौत हो गई। इससे पूरे इलाके में सनसनी फैल गई। पुलिस का कहना है असलहों का प्रदर्शन करते समय गोली चल जाने से घटना हुई। मृत युवक के घरवाले भी किसी तरह की रंजिश होने की बात नहीं कह रहे। घटना हरचंदपुर थाने की है।

रायबरेली-महराजगंज रोड पर गढ़ी हरदासपुर में ग्राम प्रधान लक्ष्मी सिंह ने कार्यालय खोल रखा है। उनके साथ गांव के ही शुभम, राजवीर सहित तीन-चार युवक रहते थे। गुरुवार की शाम करीब आठ बजे कार्यालय में ही एक राउंड फायर हुआ।

गोली चलने की आवाज सुनी तो आसपास के लोग कार्यालय पर पहुंचे। वहां शुभम फर्श पर मृत पड़ा था, उसके सिर में गोली लगी थी। बंदूक राजवीर लोध के हाथ में देखी गई।

गांव वाले जब तक कुछ समझ पाते, वह भाग निकला। पुलिस की प्रारंभिक जांच में ये बात पता चली है कि राजवीर और शुभम अच्छे दोस्त थे।

दोनों असलहा दिखाकर फोटो ले रहे थे, तभी अचानक गोली चल गई। गोली उस वक्त चली, जब बंदूक राजवीर के हाथ में थी। बंदूक किसकी है, इस बात का भी पता लगाया जा रहा है।

घटना के बाद से ग्राम प्रधान व उसके साथ घूमने वाले लोगों का पता नहीं चल सका। एसपी श्लोक कुमार ने बताया कि असलहे के साथ फोटो खिंचाते वक्त फायर होने की बात सामने आई है।

किसी प्रकार की रंजिश के बारे में पीड़ित परिवार के लोग कुछ नहीं कह रहे हैं। तहरीर के आधार पर केस दर्ज कराया जाएगा। राजवीर की तलाश कराई जा रही है।

साथ ही रहते थे शुभम और राजवीर
शुभम की दादी राजकुमारी ने बताया कि राजवीर और शुभम हमेशा साथ ही रहते थे और प्रधान के साथ चलते थे। उनके बीच किसी प्रकार की रंजिश नहीं थी। राजवीर ने क्यों गोली मार दी, इसके बारे में वह कुछ नहीं कह सकतीं। घटना को देखने वाला ही सही बात बता सकता है।

Share.

Comments are closed.