बिहार मुख्यमंत्री नितीश कुमार के सभी दावे कैसे हवा हवाई है इसका अंदाजा आप इस स्टोरी को पढ़कर समझ सकते है। कि अपराधियों के हौसले इतने बुलंद हो गए हैं, कि एक ठेकेदार की बेटी का अपहरण घर के दरवाजे से कर लिया गया।

बताया जा रहा है कि ठेकेदार चंदन तिवारी की 12 वर्षीय बेटी को घर के बाहर से बदमाश अगवा कर ले गए। इस दौरान अपहरणकर्ताओं ने एक पत्र भी फेंका जिसमें टूटी-फूटी अंग्रेजी में पांच लाख रुपये की फिरौती मांगी गई है।

घटना की जानकारी मिलते ही पुलिस के आलाधिकारी मौके पर पहुंचे और ठेकेदार चंदन तिवारी से वारदात के बारे में जानकारी ली जा रही है।
ठेकेदार चंदन तिवारी ने पुलिस को बताया कि बेटी दरवाजे के बाहर खेल रही थी, इसी दौरान दो बाइक से तीन अपराधी पहुंचे।

तीन बाइक सवारों में से एक ने बच्ची को पकड़कर बाइक पर बैठ लिया और मुंह दबा दिया। इस दौरान अपरणकर्ताओं ने एक पत्र भी फेंका जिसमें पांच लाख फिरौती की मांग की गई है। 

इस वारदात के बाद लोगों में दहशत का माहौल है। वहीं पुलिस ने शहर के सभी प्रवेश और एंट्री प्वाइंट पर नाकेबंदी कर दी है। हालांकि अभी तक बच्ची का सुराग नहीं मिला है। पिता चंदन तिवारी बताते हैं की उनका किसी से कोई विवाद नहीं है। जिससे किसी पर घटना को अंजाम देने का शक कर सकें।

दिलचस्प बात ये है कि पत्र टूटी-फूटी अंग्रेजी में है। इससे लग रहा है कि अपहरणकर्ता अच्छी अंग्रेजी नहीं जानते हैं। पत्र में पांच लाख फिरौती नहीं देने पर बेटी की हत्या कर देने की बात लिखी गई है। इसमें ये भी लिखा है की अगर पुलिस को बताया तो भी बेट की जान से हाथ धोना होगा। पुलिस एक्सपर्ट की मदद से इस पत्र के लिखावट की जांच कराने में जुट गई है।

Share.

Comments are closed.