बिहार की राजधानी पटना में चार साल के बच्चे के साथ सफर कर रही महिला के साथ गैंगरेप का मामला प्रकाश में आया है। राजस्थान के कोटा जिले की रहने वाली और मूल रूप से मोतिहारी जिले की निवासी महिला को पहले जहरखुरानों ने अपने कब्जे में लिया और फिर सारा सामान लूटने के बाद महिला के साथ गैंगरेप भी किया।

पीड़िता के बयान के आधार पर पटना की फतुहा पुलिस आगे की कार्रवाई में जुट गई है। पुलिस ने इस मामले में दरिया उसफा निवासी पंकज और सोतीचक निवासी सोनू नाम के दो युवकों को गिरफ्तार कर लिया है । वहीं दो अन्य आरोपित संतोष कपमार और मनी कुमार फरार चल रहे हैं, जिनकी गिरफ्तारी के लिए पुलिस सघन छापेमारी कर रही है।

ऑटो सवार नशाखुरानी गिरोह के सदस्य उसे ऑटो में बिठा कर एक सुनसान जगह ले गए। नशाखुरान महिला को गौरीचक थाना क्षेत्र के सुडीहा के पास एक सुनसान गोदाम पर ले गए और उससे 20 हजार नगद, मोबाइल और अन्य सामान छीन लिया।

पैसे और सामान छीनने के बाद नशाखुरानों ने बारी-बारी से उसके साथ गैंगरेप किया। सामूहिक दुष्कर्म की घटना को अंजाम देने के बाद आरोपितों ने महिला और उसकी बच्ची को एक बाइक पर बिठाया और उसे फतुहा फोरलेन ओवरब्रिज के पास छोड़ दिया।

मंगलवार की सुबह पुलिस ने बदहवास स्थिति में महिला को बरामद किया। इसके बाद थाने पहुंचकर पीड़िता ने पूरे मामले की जानकारी पुलिस को दी। शुरू में पुलिस गैंगरेप की घटना को सिरे से नकारती रही।

Share.

Comments are closed.