कांग्रेस ने अनुसूचित जाति से ताल्लुक रखने वाले चरणजीत सिंह चन्नी को पंजाब का नया मुख्यमंत्री बनाया है। अनुसूचित जाति से वह पंजाब के पहले मुख्यमंत्री हैं। बीएसपी सुप्रीमो और यूपी की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने इसे चुनावी हथकंडा करार दिया है।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस को अनुसूचित जाति (SC) पर भरोसा नहीं हैं। ये कांग्रेस का चुनावी हथकंडा है। बसपा प्रमुख ने अनुसूचित जाति के लोगों कांग्रेस के बहकावे में न आने का आग्रह किया है।

मायावती ने बीजेपी पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि यूपी में भी विधानसभा चुनाव से कुछ समय पहले ओबीसी समाज के प्रति उभरा भाजपा का नया प्रेम भी हवा हवाई है। अगर ये प्रेम सार्थक होता तो केंद्र और राज्यों में सरकारी नौकिरयों में अनुसूचित जातियों के पद भर देती। अभी भी पद खाली पड़े हैं।

समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, बीएसपी चीफ ने कहा कि चरणजीत सिंह चन्नी को कुछ वक्त के लिए पंजाब का मुख्यमंत्री बनाया जाना कांग्रेस का चुनावी हथकंडा है। आगामी पंजाब चुनाव इनके नेतृत्व में नहीं बल्कि गैर दलित के नेतृत्व में लड़ा जाएगा. इससे साफ होता है कि कांग्रेस का दलितों पर अब तक भरोसा नहीं हुआ है।

Share.

Comments are closed.