एक तरफ महामारी तो दूसरी तरफ कथित लापरवाही से लोगों के लिए मुसीबत बनती जा रही है। मुज़्ज़फरनगर में एक परिवार को नामचीन होटल फूड एंड मूड होटल पर खाना खाने गए थे। जो उन्हें बहुत महंगा पड़ गया है।

जानकारी है जब परिवार घर लौटा तो सबकी तबीयत बिगड़ गई। हालत नाजुक होने पर सभी को इलाज के लिए फौरन अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा इलाज मिलने के बाद लोगों की हालत में सुधार हुआ है ऐसा बताया जा रहा है कि सभी फ़ूड पॉइजनिंग के शिकार हुए।

पीड़ित परिवार ने होटल मालिक के खिलाफ केस दर्ज कराया है। वहीं, स्वास्थ्य विभाग और जिला प्रशासन ने होटल के खाने का सैंप लेकर जांच के लिए भेज दिया है।

अंबा विहार निवासी हसन अब्बास ने बताया अपने परिवार के साथ मीनाक्षी चौक पर स्थित फूड एंड मूड होटल पर खाना खाने गए थे। परिवार के लोगों ने यहां चिकन कोरमा खाया था। खाना खाकर जैसे ही परिवार घर लौटा तो तबीयत खराब होने लगी। सभी को उल्टी और दस्त की शिकायत होने लगी। पूरा परिवार को निसार अस्पताल में भर्ती कराया गया।

खाना खाने के थोडी देर बाद ही सबकी हालत बिगडने लगी और उल्टी दस्त लग गए, जिसमें अली अब्बास, अलीमा जैदी, नादिर अब्बास, सिराज, फातिमा पत्नी नादिर अब्बास, तैना कौशर पत्नी नवाजिश अब्बास, जैनब पुत्री नवाजिश, केसरजहां पत्नी आबिद अब्बास की हालत बिगड गयी, जिन्हें गंभीर हालत में डा. मुजम्मिल व डा. निसार को दिखाया गया, जिनकी गंभीर हालत देखते हुए सभी को अस्पताल में ही भर्ती करा दिया गया, जहां उनका उपचार चल रहा है।

 डाक्टर ने जांच के बाद बताया कि सभी को फूड प्वायजनिंग हुई है, जो बासी खाना होने के कारण होने की संभावना है। इस मामले में पुलिस ने होटल मालिकों के खिलाफ मामला दर्ज कर कार्यवाही शुरू कर दी है।

पीड़ित परिवार के मुखिया ने होटल मालिक के खिलाफ शहर कोतवाली में तहरीर देकर शिकायत दर्ज कराई है। वहीं, जानकारी मिलने पर सिटी मजिस्ट्रेट अभिषेक कुमार सिंह ने पुलिस व खाद्य विभाग की टीम के साथ मिलकर जांच शुरु कर दी है।

पहले भी कथित घटिया सर्विस देने के लिए चर्चा में था होटल

चर्चा है कि पहले भी कई बार होटल की शिकायत हो चुकी है, लेकिन पुलिस प्रशासन कोई कार्यवाही नहीं करता है। आस – पास के लोगो का कहना है होटल मालिक की पहुंच है कर प्रशासन को भी कथित रूप से माल पानी दिया जाता है।

वंही जिला मजिस्ट्रेट ने जानकारी देते हुए बताया कि परिवार के 6 सदस्य होटल पर खाना खाने गए थे जिसके बाद परिवार के सभी सदस्य बीमार हो गए। परिवार द्वारा होटल मालिक के खिलाफ शिकायत करने के बाद होटल से खाने के दो सैंपल लिए गए हैं।अगर सैंपल फेल हो गए तो निश्चित रूप से होटल मालिक के खिलाफ सख्त कार्यवाही की जाएगी ,

लेकिन अब देखना यह है कि प्रशसन कितनी निष्पक्षता से जांच करता है।

Share.

Comments are closed.