UP में अब सचिवालय सहित सभी संवेदनशील शासकीय कार्यालयों की सुरक्षा व्यवस्था अब उत्तर प्रदेश विशेष सुरक्षा बल के हवाले होगी। इन भवनों की सुरक्षा के लिए सरकार ने नई फोर्स UPSSF का गठन किया है।

सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि सचिवालय और संवेदनशील भवनों की सुरक्षा और पुख्ता करने की जरूरत है। इसके दृष्टिगत इन भवनों के सुरक्षा की जिम्मेदारी नवगठित उत्तर प्रदेश विशेष सुरक्षा बल (यूपीएसएसएफ) को सुपुर्द करने पर विचार करते हुए आवश्यक कार्रवाई की जानी चाहिए।

दरअसल, लखनऊ स्थित लोकभवन (सचिवालय) में मंगलवार को केंद्रीय राज्य मंत्री और मोहनलालगंज सीट से सांसद कौशल किशोर का प्रतिनिधि बनकर दो लोगों ने प्रवेश करने की कोशिश की। वहां तैनात सुरक्षा कर्मियों ने दोनों को पकड़ कर पंचम तल पर ले जाकर पूछताछ की। सूचना पर पहुंची हजरतगंज पुलिस दोनों को हिरासत में लेकर थाने ले आई।

लोक भवन की सुरक्षा में तैनात आरआई राजेंद्र सिंह ने रात में थाने दोनों के खिलाफ तहरीर दी। वहीं, देर रात तक उच्चाधिकारियों की तरफ से कोई निर्देश न मिलने पर मुकदमा दर्ज नहीं हुआ है

Share.

Comments are closed.