झांसी के सूजे खां खिड़की वार्ड नंबर 50 का हाल ये है कि पिछले कई वर्षों से यहां की हालत बद से बदतर बनी हुई है यहां के लोगों का जीना मुहाल है सड़कें बड़े-बड़े और गहरे गहरे गड्ढों में तब्दील हो चुकी है जिनमें घरों से निकलता हुआ गंदा पानी हमेशा भरा रहता है इस वार्ड के लोग इस गंदगी से होकर गुजरने को मजबूर हैं चाहे अध्यापक हो या विद्यार्थी , मजदूर हो या बिजनेसमैन सब को इस समस्या से दो-चार होना पड़ता है सबको ही इसी गंदगी के बीच से होकर निकलना पड़ता है लेकिन वर्षों से इस वार्ड की इस हालत पर प्रशासनिक अधिकारियों के कान पर जूं तक नहीं रेंगती है क्षेत्रीय लोगों ने सैकड़ों बार क्षेत्रीय पार्षद नगर निगम के आला अधिकारियों से इसके बारे में बात की लेकिन नतीजा शून्य ही रहा

क्षेत्रीय पार्षद की उदासीनता से लोगों में फैल रहा आक्रोश

पिछले कई वर्षों से यह समस्या जस की तस बनी हुई है वहीं वार्ड के पार्षद किशोरी रैकवार की उदासीनता का तो पूछना ही क्या वह इस भीषण और विकराल समस्या को देखते ही यहां से मुंह फेर लेते हैं चुनाव के वक्त में यही पार्षद इसी क्षेत्र के लोगों से वादा करते हुए नहीं थक रहे थे कि वह उनकी यह समस्या दूर करेंगे लेकिन अब हालात बिल्कुल उल्टे हैं किशोरी रैकवार जो कि क्षेत्रीय पार्षद है लोगों की बातों को ध्यान भी नहीं देते हैं जनता परेशान हो या त्रस्त हो इस सब के बावजूद भी वह अपने आप में मस्त रहते हैं

वहीं क्षेत्रीय लोगों से बात करने पर पता चला कि कई बार नगर निगम के अधिकारी यहां आकर सर्वे कर गए हैं कई बार सुनने में आता है यहां की इस समस्या को निजात दिलाने के लिए पैसा भी सैंक्शन हो गया है लेकिन उसके बाद भी काम आज तक कुछ भी नहीं हुआ यह पूरा वार्ड इस वक्त इस समस्या से जूझ रहा है आपको बता दें कि इसी गंदगी से होकर जगह के पास ही एक कब्रिस्तान बना हुआ है जहां अक्सर लोगों की मय्यत है दफन होने के लिए आती हैं उन सब को भी इसी गंदगी और गड्ढों से होकर अपने लोगों का अंतिम संस्कार करना पड़ता है इस सब के बावजूद भी किसी जनप्रतिनिधि ने आज तक उनकी इस समस्या को हल करने की कोशिश नहीं की

आखिर वह कौन सा दिन होगा कौन सा साल होगा कौन सा वक्त होगा जब वार्ड नंबर 50 सूजे खां खिड़की के लोगों की यह समस्या दूर होगी यह एक यक्ष प्रश्न है

Share.

Comments are closed.