उत्तरप्रदेश के फिरोजाबाद जिला अस्पताल में मंगलवार सुबह आगरा के कमिश्नर ने दौरा किया। इस दौरान उनकी गाड़ी के आगे लेटकर एक युवती बदहाल स्वास्थ्य सेवाओं की बात कही और कहा की अस्पताल की बदहाली से मेरी बहन की मौत हुयी है।

जैसे ही कमिश्नर रवाना होने को निकले। तभी एक युवती उनकी गाड़ी के आगे लेट गई। उसने शिकायत करते हुए कहा कि 100 शैय्या अस्पताल की बदहाली के कारण ही उसकी बहन की मौत हुई है। अस्पताल में कोई व्यवस्था ठीक नहीं है जिसके कारण लोग मर रहे हैं।

काफी देर तक कमिश्नर की गाड़ी के आगे लेटकर युवती ने अस्पताल की बदहाली की शिकायत की। बाद में महिला पुलिसकर्मियों ने पहुंचकर युवती को कार के आगे से जबरदस्ती उठाया। फिर कमिश्नर अमित गुप्ता गाड़ी में बैठकर रवाना हुए लेकिन जिलाधिकारी युवती को समझाने में लगे रहे।

Share.

Comments are closed.