अयोध्या में तिरंगा यात्रा निकालने से पहले दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने प्रेस कॉफ्रेंस कर योगी सरकार पर हमला बोला है। सिसोदिया ने कहा, लोगों ने राम मंदिर के नाम पर चंदा दिया, यह सरकार और भाजपा के लोग उस चंदे को खा गए। ये ना आम के, ना राम के हैं। रोजगार के लिए यूपी में महिलाओं को पहली बार सिर मुंडवाते हुए देखा गया।

किसान फसल की दाम मांग रहा है तो सरकार उनको गुंडा और मवाली कह रही है। अखबार 3 साल, 8 साल बच्चों के बलात्कार की खबरों से भरे होते हैं। जब हम उत्तर प्रदेश के स्कूल दिखने गए तो हमें स्कूल नहीं देखने दिया गया। बिजली सबसे ज्यादा महंगी उत्तर प्रदेश में मिल रही है।

मनीष सिसोदिया ने कहा, तिरंगा यात्रा में राष्ट्रवाद भी है, हिंदुत्व भी है। सब कुछ है। आज तिरंगा यात्रा लेकर निकले हैं। सिसोदिया ने सरकार से सवाल करते हुए पूछा कि बताएं कहां है स्वास्थ्य कहा है शिक्षा? कोरोना से हुई मौत सरकार के आंकड़ों में नहीं है। अखबार के आंकड़ों में है। राम सब के हैं। ये लोग मुख में राम रखते हैं, बगल में छुरी रखते हैं। उन्होंने साफ किया कि आम आदमी पार्टी का यूपी में कोई गठबंधन नहीं होगा।

मनीष सिसोदिया ने और क्या कहा

  • पूरी दुनिया में रामराज्य की बात होती है, लेकिन राम के नाम पर बात करने वाली अंत में क्या करती है। यह सभी जानते हैं कि दिल्ली सरकार है जो भगवान राम से प्रेरणा लेकर आदर्श पर रामराज के सिद्धांतों पर सरकार चल रही है।
  • उत्तर प्रदेश की जनता ने साढ़े 4 साल पहले योगी सरकार बनाई थी। भाजपा ने वादा किया था कि भ्रष्टाचार से मुक्ति दिलवा देंगे। गुंडाराज से मुक्ति दिलवा देंगे। नौजवानों को नौकरी देंगे। योगीजी ने सपने दिखाए कि किसानों की आय दोगुना कर देंगे। लेकिन अब यूपी की जनता सभी क्षेत्रों में ठगा महसूस कर रही है।
  • कानपुर के बिकरु की खुशी अपने परिवार के साथ जेल में हैं। हाथरस में एक बच्ची से दरिंदगी हुई। दरिंदगी करने वालों के साथ सरकार खड़ी हुई। मीडिया वालों के आंख में धूल झोंक कर रात को चोरी छुपे अंतिम संस्कार करवा दिया।
  • कोरोना के दौरान बंद स्कूलों में कस्तूरबा गांधी विद्यालय के नाम पर 9 करोड़ रुपये ठगी की गई। सरकार 8 लाख का वेंटीलेटर 22 लाख में लिया गया।
Share.

Comments are closed.