उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के अब्बा जान वाले बयान पर विरोधियों का पलटवार जारी है. अब एआईएमआईएम (AIMIM) प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने योगी के बयान पर निशाना साधा है। ओवैसी ने आरोप लगाते हुए कहा कि यूपी के मुसलमानों की साक्षरता-दर सबसे कम है. मुस्लिम इलाक़ों में स्कूल-कॉलेज नहीं खोले जाते.

असदुद्दीन ओवैसी ने ट्विटर पर लिखा, ”कैसा तुष्टिकरण? प्रदेश के मुसलमानों की साक्षरता-दर सबसे कम है, मुस्लिम बच्चों का Dropout rate सबसे ज़्यादा है। मुस्लिम इलाक़ों में स्कूल-कॉलेज नहीं खोले जाते.अल्पसंख्यकों के विकास के लिए केंद्र सरकार से बाबा की सरकार को ₹16207 लाख मिले थे, बाबा ने सिर्फ ₹1602 लाख खर्च किया.” उन्होंने आगे कहा कि ”2017-18 में प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना के तहत मात्र 10 मुसलमानों को घर मिले. ‘अब्बा’ के बहाने किसके वोटों का तुष्टिकरण हो रहा है बाबा? देश के 9 लाख बच्चे गंभीर तौर पर कुपोषित हैं, जिसमें से 4 लाख बच्चे सिर्फ़ यूपी से हैं.”

ओवैसी ने कहा कि ”ग्रामीण उत्तर प्रदेश में 13944 sub-centres की कमी है, 2936 PHC की कमी है, 53% CHC की कमी है. केंद्र सरकार के मुताबिक़ बाबा-राज में यूपी के PHC में सबसे कम डॉक्टर मौजूद हैं. कुल 2277 डाक्टरों की कमी है. अगर काम किए होते तो ‘अब्बा, अब्बा’ चिल्लाना नहीं पड़ता.”

Share.

Comments are closed.