मालदा , 11 सितंबर। पार्टी सदस्यों द्वारा लाये गए अविश्वास प्रस्ताव के जरिये भाजपा प्रधान को हटा दिया गया। इसके बाद एक बार फिर भाजपा की गुटबाजी समाने आ गयी ।

चांचल – 02 नंबर ब्लॉक के गौड़हंद ग्राम पंचायत की है. वहीँ जिला भाजपा नेतृत्व ने दावा किया कि भय और प्रलोभन के कारण ऐसा हुआ । वहीँ सत्ताधारी तृणमूल कांग्रेस ने कहा विकास कार्य में भागिदार होने के लिए सभी तृणमूल कांग्रेस में शामिल हुए हैं ।

2018 के पंचायत चुनाव में गौड़हंद ग्राम पंचायत की 15 में से नौ सीटों पर भाजपा ने जीत हासिल की थी, तृणमूल कांग्रेस ने तीन सीटें जीती थीं, कांग्रेस ने दो सीटें जीती थीं और वाम दलों ने एक सीट जीती थी. पुष्पा ओराव भाजपा की प्रधान चुनी गईं। तृणमूल के साथ भाजपा के चार सदस्यों ने भाजपा प्रधान के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाया था।

अविश्वास प्रस्ताव के जरीय भाजपा प्रधान और उपप्रमुख को हटा दिया गया। दूसरी ओर ग्राम पंचायत की अपदस्थ भाजपा प्रधान पुष्पा रानी ओराव ने कहा कि अविश्वास प्रस्ताव लाने वाले भाजपा के चार सदस्यों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

चांचल – 02 नंबरब्लॉक के तृणमूल उपाध्यक्ष रफीकुल हुसैन ने आरोप लगाया भाजपा की अंदरूनी कलह को लेकर अविश्वास लगाया गया है. उन्होंने कहा कि ग्राम पंचायत के सभी सदस्य विकास कार्य में भाग लेने के लिए तृणमूल में शामिल हुए हैं ।

वहीँ जिला युवा मोर्चा के अध्यक्ष सुमित सरकार ने कहा कि भाजपा सदस्यों को डर और प्रलोभन से उन्हें तोडा जा रहा है। उन्होंने दावा किया कि भाजपा इस मामले में उच्च न्यायालय में मामला दायर किया है।

Share.

Comments are closed.