मनचलों के हौसले कितने बुलंद है यह इसी बात से पता चलता कि बेखौफ टैंपो चालक 12 वीं की छात्रा से छेड़छाड़ करता रहा और छात्रा मदद के लिए लोगों से गुहार लगाती रही।

मचचले की हरकत देख कोई उसकी मदद को नहीं आया। मनचला टैपो चालक छात्रा को किसी और टैंपो में भी नहीें बैठने दे रहा था। छात्रा ने अपने पिता को फोन से इसकी जानकारी दी तो पिता घर से आए। पिता के साथ कई अन्य लोगों को आता देख मनचला भाग गया।

कुछ देर बाद मनचला टैंपो चालक अपने दो दोस्तों के साथ छात्रा के घर पहुंचा और उसका हाथ पकड़कर खींचने लगा। विरोध पर छात्रा को तमंचे से गोली मारने और चेहरे पर तेजाब फेंकने की धमकी दी।

परिजनों ने मनचले को पीटा, मगर वह दोस्तों संग छूटकर भाग गया। पुलिस ने टेंपो कब्जे में लेकर मनचले की तलाश शुरू की है।
पल्लवपुरम फेज-वन निवासी 17 वर्षीय किशोरी शहर के एक स्कूल में 12वीं कक्षा की छात्रा है।


छात्रा अपने घर से हाईवे की सर्विस रोड पर पहुंची, जहां से उसे टेंपो में सवार होकर बेगमपुल तक पहुंचना था। एक टेंपो आया, जिसमें कई सवारी मौजूद थी। छात्रा उस टेंपो में नहीं बैठी।

छात्रा ने बताया कि जब वह टेंपो में नहीं बैठी तो टेंपो चालक नीचे उतरा और उसके सामने आकर खड़ा हो गया। इसी बीच दूसरा टेंपो आया, जिसमें छात्रा बैठने के लिए चल दी।

मगर, मनचले ने छात्रा को उसमें बैठने से रोका और टेंपो को आगे बढ़ा दिया। छात्रा ने अपने पिता को फोन कर दिया। छात्रा के पिता घर से दौड़े। पिता को देख चालक वहां से टेंपो को छोड़ भाग गया।

उस टेंपो की सवारी दूसरी टेंपो में बैठकर चली गईं। करीब दस मिनट बाद मनचला अपने दो दोस्तों संग छात्रा के घर पहुंचा और उसका हाथ पकड़कर खींचने लगा।

छात्रा के विरोध करने पर मनचले ने उसे तमंचे से गोली मारने और चेहरे पर तेजाब फेंकने की धमकी दी। इस दौरान छात्रा के पिता ने मनचले को धर दबोचा।

तभी दो अन्य युवक भाग गए। पकड़ में आए मनचले की धुनाई कर दी। भीड़ जमा हो गई, मगर किसी ने मनचले को नहीं पकड़ा। मनचला छूटा और धमकी देकर भाग गया। पुलिस मौके पर पहुंची और टेंपो को कब्जे में चौकी पहुंचाया।

Share.

Comments are closed.