क्राइम ब्रांच ने नीट परीक्षा में एक साल्वर गैंग का राजफाश किया है। इस सम्बन्ध में पटना, बिहार की बी एच यू के बीडीएस द्वितीय वर्ष की छात्रा जूली व उसकी मां बाबिता कुमारी को पकड़ा है। गैंग का सरगना पटना का पीके है।

पुलिस अन्य आरोपितों की तलाश में दबिश दे रही है। पटना के संदलपुर वैष्णवी कॉलोनी की रहने वाली आरोपित दूसरे की जगह परीक्षा दे रही थी। उसकी परिवार की आर्थिक स्थिति ठीक नहीं है। उसके पिता पटना में सब्जी बेचते हैं।

इसी का फायदा उठाकर सॉल्वर गैंग ने जूली की मां बबिता से संपर्क किया और 5 लाख रुपए का लालच दिया। कहा कि अगर तुम्हारी बेटी हमारी कैंडिडेट की जगह बैठ कर परीक्षा दे देगी तो सेंटर से बाहर निकलते ही 5 लाख रुपए थमा दिए जाएंगे। बबिता पैसे के लालच में आ गई और अपनी बेटी जूली को दूसरी कैंडिडेट की जगह परीक्षा में बैठने के लिए राजी कर लिया।

सारनाथ स्थित सेंट फ्रांसिस स्कूल में बनाए गए सेंटर में रविवार को आयोजित नीट यूजी में बबिता अपनी बेटी जूली को लेकर गई। कक्ष निरीक्षकों को जूली पर शक हुआ तो सूचना पुलिस को दी गई।

सूचना के आधार पर शाम के समय क्राइम ब्रांच प्रभारी अश्वनी पांडेय अपनी टीम के साथ गए और जूली से पूछताछ की तो उसका फर्जीवाड़ा उजागर हुआ। जूली के साथ ही उसकी मां भी पकड़ ली गई। बबिता के मोबाइल की कॉल डिटेल खंगाली गई तो दो दलालों का पता लगा।

Share.

Comments are closed.