चेन्नई: तमिलनाडु विधानसभा में सोमवार को मेडिकल प्रवेश परीक्षा NEET को खत्म करने को लेकर एक प्रस्ताव पेश किया गया। मुख्यमंत्री एमके स्टालिन ने इस प्रस्ताव को पेश किया। इस प्रस्ताव को पेश करते हुए सीएम ने कहा कि ‘आज मैंने NEET के खिलाफ प्रस्ताव पेश किया है। आप (AIDMK) भी यही प्रस्ताव लेकर आए। मैं विपक्षी दलों से इस प्रस्ताव को समर्थन देने का आग्रह करता हूं।’

AIADMK ने किया प्रस्ताव का समर्थन

सीएम के इस आग्रह के बाद विपक्षी दल AIADMK ने इस प्रस्ताव के समर्थन का ऐलान कर दिया। AIADMK नेता के पलानीस्वामी ने कहा कि हमने इस प्रस्ताव के विरोध से अलग रहने का फैसला किया है। वहीं छात्रों ने भी परीक्षा के लिए अच्छी तैयारी नहीं की, क्योंकि DMK-सरकार ने NEET को खत्म करने का ऐलान किया था, हम छात्रों की बेहतरी को देखते हुए इस प्रस्ताव का समर्थन करेंगे।

वहीं शनिवार को नीट उम्मीदवार की आत्महत्या मामले को लेकर तमिलनाडु के पूर्व मुख्यमंत्री के पलानीस्वामी ने राज्य सरकार पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि राज्य के अंदर NEET परीक्षा के आयोजन को लेकर छात्र और उनके माता-पिता पूरी तरह से भ्रमित थे, डीएमके सरकार का कोई स्पष्ट रूख नहीं था, कल एक छात्र दानुष ने आत्महत्या कर ली। डीएमके इसके लिए जिम्मेदार है।

रविवार को देशभर में आयोजित हुई नीट परीक्षा

आपको बता दें कि तमिलनाडु सरकार काफी काफी समय से नीट को खत्म करने की योजना पर काम कर रही थी। रविवार को ही देशभर में नीट परीक्षा का आयोजन किया गया था। इससे एक दिन पहले शनिवार को राज्य में एक नीट उम्मीदवार ने आत्महत्या कर ली थी। इसके बाद ही रविवार को मुख्यमंत्री एमके स्टालिन ने कहा था कि देश में नीट एक बड़ा मुद्दा है, हम इसे खत्म करने को लेकर विधेयक लेकर आएंगे। इस विधेयक में राज्य के मेडिकल शिक्षा उम्मीदवारों को NEET से छूट देने के लिए राष्ट्रपति से सहमति की मांगी की गई है।

Share.

Comments are closed.