समाजवादी छात्र सभा के जिलाध्यक्ष यूसुफ गौर हनी के नेतृत्व में छात्र सभा के कार्यकर्ताओं, दलितो व कमज़ोर वर्गों के छात्र छात्राओं ने एक जुट होकर इस आर्थिक तंगी के समय मे जीरो फीस व छात्रवर्त्ति को लेकर राज्यपाल महोदया जी के नाम जिलाधिकारी महोदय जी को ज्ञापन सौंपा।यूसुफ गौर ने कहा कि मौजूदा सरकार छात्र विरोधी सरकार है,कोरोना काल से पीड़ित अभिभावकों को आर्थिक तंगी से गुजरना पड़ रहा है।ऐसे में अभिभावक फीस कैसे जमा कर पाएंगे।

दलित वर्ग के छात्रों को मिलने वाली जीरो फीस सुविधा को बंद कर के भारतीय जनता पार्टी ने प्रमाण दे दिया है कि मौजूदा सरकार छात्र विरोधी है।गौर ने कहा कि हमारे प्रदेश के मुख्यमंत्री जी के पास जिलो के नाम बदलने के लिए बहुत पैसा है परंतु गरीब पीड़ित छात्रों को छात्रवृत्ति देने में फेल साबित हो रही है।

छात्र सभा के महानगर अध्यक्ष अनिरुद्ध बालियान ने मीडिया को बताया कि भाजपा सरकार छात्रों के भविष्य के साथ खिलवाड़ कर रही है एक तरफ आर्थिक मंदी दूसरी तरफ फीस का दबाव की स्तिथि में कैसे छात्र अध्ययन कर पाएंगे।

कोषाध्यक्ष वत्सल शर्मा ने कहा कि मौजूदा सरकार का यही रवैया 2022 में इनके प्रताशियों की जमानत जब्त कराएगा।इस मौके पर मुख्य रूप से – मौ यूनुस,सागर कश्यप,खिजर हयात,

द नेटीजन न्यूज़ के लिए असलम राजा की रिपोर्ट

Share.

Comments are closed.