आसमान से जमीन पर आ चुकी जेट एयरवेज एक बार फिर से उड़ान भरने की तैयारी में है। 2022 में अप्रैल से जून के बीच यह कंपनी फिर से उड़ान भर सकती है। कंपनी के नए मैनेजमेंट जालान कारलॉक कंसोर्टियम ने इस तरह की उम्मीद जताई है।

उधर, कंपनी का शेयर स्टॉक एक्सचेंज पर 4.97 पर्सेंट की बढ़त के साथ 83 रुपए पर पहुंच गया। इसका यह अपर सर्किट का बैंड है।

इस नए कंसोर्टियम ने सोमवार को एक प्रेस बयान जारी किया। इसमें कंपनी ने कहा कि एयर ऑपरेटर सर्टिफिकेट (AOC) के साथ उसकी प्रक्रिया जारी है। इस प्रक्रिया में रीवैलिडेशन किया जाना है।

कंसोर्टियम संबंधित अथॉरिटी के साथ बात कर रहा है। इसमें एयरपोर्ट पर स्लॉट अलोकेशन, जरूरी एयरपोर्ट इंफ्रा और रात की पार्किंग आदि के मामले शामिल हैं।

जेट 2.0 में सुधीर गौर होंगे सीईओ

जेट 2.0 ऑपरेशन के लिए जालान कालरॉक कंसोर्टियम ने कैप्टन सुधीर गौर को नियुक्त किया है। सुधीर गौर एक्टिंग सीईओ होंगे। उन्होंने पिछले महीने देश के प्रमुख एयरपोर्ट का दौरा किया था और वहां की अथॉरिटी के साथ मीटिंग की थी।

जालान कालरॉक कंसोर्टियम के लीड मेंबर मुरारीलाल जालान ने बताया कि हमें जून 2021 में NCLT की मंजूरी मिली थी। तब से हम सभी संबंधित अथॉरिटी के साथ बात कर रहे हैं।

3 और 5 साल की परफेक्ट योजना

उन्होंने कहा कि 3 और पांच साल वाली योजना बहुत ही परफेक्ट योजना है। यह बिजनेस की कम और लंबे समय की योजना है। एयरक्राफ्ट को लंबे समय के लीज के आधार पर चुना गया है। उन्होंने कहा कि यह एविएशन इतिहास में पहली बार हो रहा है कि कोई कंपनी 2 साल तक जमीन पर रहे और फिर से वह उड़ान भरे। हम इस ऐतिहासिक पार्ट का हिस्सा बन रहे हैं।

NCLT की ओर से मंजूरी मिली है

जेट एयरवेज के लिए रिवाइवल प्लान को NCLT की ओर से मंजूरी मिली है। आने वाले महीने में जेट के सभी कर्जदारों का पैसा भी चुकाया जाएगा। कैप्टन सुधीर गौर ने कहा कि जेट एयरवेज पिछले 20 सालों में एक मजबूत ब्रांड बनकर उभरा है

Share.

Comments are closed.