ओडिशा में गहरे दबाव का क्षेत्र बनने से सोमवार को भारी बारिश हुई जिसके मद्देनजर अधिकारियों ने बाढ़ की चेतावनी जारी की। अधिकारियों ने यह जानकारी देते हुए बताया कि भुवनेश्वर में बीते 24 घंटे में, सुबह साढ़े आठ बजे तक, 195 मिमी बारिश हुई जो पिछले 63 वर्षों में सबसे ज्यादा है. इससे पहले नौ सितंबर 1958 को शहर में 163 मिमी बारिश हुई थी।

ओडिशा में बाढ़ के हालात बन सकते हैं

विभाग ने संबलपुर, देवगढ़, सोनपुर और बारगढ़ के लिए ‘रेड’ चेतावनी जारी की है जिसका मतलब है कि इन स्थानों पर भारी से बेहद भारी और अत्यधिक भीषण बारिश हो सकती है।

केंद्रीय जल आयोग (सीडब्ल्यूसी) ने कई जिलों के लिए अलर्ट जारी किया है क्योंकि प्रमुख नदियां और उनकी सहायक नदियां लगातार बारिश के कारण उफान पर हैं. इसमें कहा गया है कि भारत मौसम विज्ञान विभाग ने अत्यधिक भारी बारिश का अनुमान जताया है ऐसे में ओडिशा में बाढ़ के हालात बन सकते हैं।

आईएमडी ने कहा, “अगले 48 घंटों के दौरान उत्तर ओडिशा, उत्तरी छत्तीसगढ़ और मध्य प्रदेश में पश्चिम-उत्तर-पश्चिम वाडरें की ओर बढ़ने की बहुत संभावना है, इसके अगले 24 घंटों के दौरान एक डिप्रेशन में कमजोर होने की संभावना है।”

आईएमडी ने सोमवार को ओडिशा और छत्तीसगढ़ में कुछ स्थानों पर भारी से बहुत भारी वर्षा के साथ अधिकांश स्थानों पर हल्की से मध्यम वर्षा और अलग-अलग स्थानों पर अत्यधिक भारी वर्षा की चेतावनी दी है।

Share.

Comments are closed.