कोरोना गाइडलाइन के अनुपालन और पुलिस कमिश्नर के द्वारा पूरे शहर मे धारा 144 प्रभावी किए जाने के बाद लोलार्क कुंड के व्यवस्थापकों ने लोलार्क छठ स्नान पर प्रतिबन्ध लगाया है।

इस बात की नोटिस अस्सी भदैनी स्थित लोलार्क कुंड के मुख्य द्वार पर लगायी गयी है। उसके बावजूद लोलार्क छठ के एक दिन पहले शनिवार को अल सुबह से ही श्रद्धालु लोग लोलार्क कुंड में स्नान के लिए पहुँच रहे हैं।

सैकड़ों की संख्या में अभी तक श्रद्धालु यहां स्नान कर चुके हैं। बता दें कि 12 सितंबर को इस वर्ष लोलार्क छठ का पर्व मनाया जायेगा।

वहीं स्नान की सूचना पर पहुंची पुलिस ने सभी श्रद्धालुओं को परिसर से बाहर निकाला और मंदिर के बाहर पीएसी तैनात कर दी। मौके पर पहुँचे एसीपी भेलूपुर प्रवीण कुमार सिंह
ने आयोजकों की जमकर क्लास लगायी और स्नानार्थियों के प्रवेश को प्रतिबंधित करते हुए मंदिर मे ताला लगवाया। उन्होने बताया कि लोलार्क छठ का स्नान कल रविवार को होना है पर स्नानार्थी आज से ही आने लगे।

सैकड़ों लोगों के कुंड तक पहुंचने और स्नान की जानकारी पर यहाँ पुलिस फोर्स भेजकर सभी को कुंड से बाहर निकालते हुए ताला बंद करवाया है और रास्ते पर भी पीएसी तैनात की गयी है।

भेलूपुर थानाक्षेत्र के अस्सी-भदैनी स्थित लोलार्क कुंड पर इस वर्ष भी श्रद्धालुओं के लिए स्नान पर प्रतिबंध लगाया गया था। इस संबंध में कुंड के आसपास कुंड का बंद होने के लिए नोटिस भी चस्पा की गयी है।

इन सब के बावजूद भी लोलार्क छठ के एक दिन पहले शनिवार को ही सैकड़ों की संख्या में श्रद्धालु कुंड में स्नान के लिए अलसुबह ही पहुंच गए, जब इस बात की सूचना पुलिस प्रशासन को लगी तो मौके पर पहुंचकर लाउडस्पीकर से अलाउंसमेंट कर श्रद्धालुओं को बाहर निकाला, लेकिन तब तक सैकड़ों श्रद्धालु अंदर पहुँच चुके थे और कुंड में एक साथ स्नान कर रहे थे।

वही लोलार्क कुंड महादेव मंदिर के पुजारी पंडित विवेक दुबे ने कहा कि हम लोग माननीय उच्च न्यायालय वह जिला प्रशासन के आदेशों का पूर्ण रुप से पालन कर रहे हैं।

श्रद्धालुओं को कल होने वाले स्नान के लिए न आने के लिए कहा जा रहा है। जगह-जगह नोटिस लगाई गयी है। वहीं जब उनसे पूछा गया कि आज कैसे इतने लोगों ने स्नान किया, लोलार्क कुंड का मुख्य द्वार श्रद्धालुओं के लिए क्यों खोला गया तो वो कोई जवाब नहीं दे पाए।

Share.

Comments are closed.