बुंदेलखंड विश्वविद्यालय के कृषि विज्ञान संस्थान में भारत सरकार के जैव प्रोद्योगिकी विभाग द्वारा स्वीकृत हल्दी परियोजना के अन्तरगत ग्राम

मुस्तरा जिला झाँसी में एक कृषक गोष्ठी ग्राम प्रधान श्री रघुनाथ सिह यादव की अध्क्ष्ता में आयोजित की गयी। कार्यक्रम का संचालन करते हुए

पारियोजना प्रबंधक डॉ.सत्यवीर सिंह ने परियोजना के माध्यम से नि:शुल्क बीज वितरण के साथ साथ वैज्ञानिक पद्धति से हल्दी की खेती में

उर्वरकों का प्रबंध एवं मृदा परीक्षण के महत्व पर विस्तार से किसानो को बताया एवं डी बी टी परियोजना से अधिक से अधिक लाभ उठाने पर

बल दिया।कृषक गोष्ठी में उपस्थित उद्द्यानविद डॉ.हरपाल सिंह ने हल्दी की खेती में खरपतवार नियन्त्रण के साथ खुदाई एवं प्रोसेसिंग के बारे में

समझाया। परियोजना सहायक श्री गुरूदयाल ने हल्दी के औषधीय गुणों एवं करक्यूमिन और तेल रसायन के विषय में किसानो को जानकारी

दी। कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे श्री रघुनाथ सिंह यादव(ग्राम प्रधान) ने किसानो से हल्दी परियोजना के माध्यम से ज्यादा से ज्यादा लाभ

उठाने का आवाहन किया।किसान गोष्ठी में मुख्य रूप से अमर सिंह,नारायण,धर्मेंद्र मोहन माली, बाबूलाल,शैलेंद्र यादव,धनीराम, मुकेश,राम

सिंह, उत्तम सिंह, राजेन्दृ यादव,चंद्र किशोर,दिलीप यादव,दयासागर आदि उपस्थित रहे।

परियोजना सहायक गुरू दयाल ने कार्यक्रम में उपस्थित ग्राम प्रधान एवं वैज्ञानिकों तथा किसानों का आभार व्यक्त किया और सभी को

परियोजना से जुडे रहने के लिए जोर दिया।

Share.

Comments are closed.