उत्तरप्रदेश के बिजनोर की रहने वाली एक 24 वर्षीय राष्ट्रीय खो-खो प्लेयर के साथ जिस हद तक बर्बरता को अंजाम दिया गया उसने सभी को हिला दिया है।

नेशनल प्लेयर की लाश बिना पूरे कपड़ों के उसके घर से 100 मीटर की दूरी पर स्थित रेलवे ट्रैक पर पड़ी मिली।

टाइम्स ऑफ इंडिया के मुताबिक लाश बहुत बुरी हालत में मिली थी। लाश के ऊपर कपड़े नहीं थे, उसका चेहरा बुरी तरह कुचला हुआ था, दांत टूटे हुए थे और गर्दन पर चोट के निशान थे। नेशनल प्लेयर के परिवार ने अपनी बेटी के साथ हुई घटना को रेप करार देते हुए FIR दर्ज करवाई।

बेसिक शिक्षा एवं खेल अधिकारी अरविंद अहलावत ने बताया कि दलित युवती ने राष्ट्रीय स्तर पर उत्तर भारत के दो बड़े राज्यों का पिछले पांच साल में प्रतिनिधित्व किया था।

हालांकि परिवार ने पुलिस पर ये भी आरोप लगाया कि पुलिस ने ये कहकर मामला दर्ज करने से मना कर दिया था कि जिस क्षेत्र में ये घटना हुई वो उनके कार्यक्षेत्र में नहीं आता है।

उनके मुताबिक जीआरपीएफ (गवर्नमेंट रेलवे पुलिस फोर्स) का ये मामला है। बसपा के एक लोकल नेता के हस्तक्षेप के बाद कार्यक्षेत्र में आने वाले जीआरपी स्टेशन में ये मामला दर्ज कर लिया गया।

एसपी ने रेप की बात को किया खारिज

ये घटना शुक्रवार की बताई जा रही है। अज्ञात आरोपी के खिलाफ आईपीसी की धारा 302 (मर्डर) और 376 (रेप) के तहत मामला भी दर्ज किया गया है।

हालांकि बिजनोर एसपी धरमवीर सिंह ने शनिवार को बताया था कि ऑटोप्सी रिपोर्ट के मुताबिक मर्डर के अलावा अन्य किसी भी क्राइम का जिक्र नहीं है।

उन्होंने कहा कि,’पोस्टमार्टम रिपोर्ट के मुताबिक चोट के कारण युवती की मौत हुई है। रिपोर्ट में इसके अलावा किसी अन्य क्राइम की घटना का जिक्र नहीं है।’

Share.

Comments are closed.