औरैया : स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों की मिलीभगत से फल फूल रही हैं अवैध पैथोलॉजी
स्वास्थ्य विभाग की अनदेखी से झोलाछाप डॉक्टर कर रहे हैं मरीजों की जान के साथ खिलवाड़

स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी बने अनजान,बिना डिग्री के झोलाछाप डॉक्टर हर गांव गली में मिल ही जाते हैं.

जिन पर स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी नकेल कसने में हुए नाकाम,झोलाछाप डॉक्टरों पर अधिकारी कब करेंगे कार्यवाही.

किसी की जान जाने के बाद जागते हैं अधिकारी
अधिकारियों की जागने से पहले झोलाछाप डॉक्टर हो जाते हैं रफू चक्कर.
मरीजों की जिंदगी से झोलाछाप डॉक्टर करते हैं खिलवाड़
इलाज के नाम पर मरीजों से वसूलते है मोटी रकम.

ऐसा ही मामला अजीतमल क्षेत्र के अंतर्गत अनंतराम में देखने को मिला जहां पर बिना डिग्री किए अवैध रूप से चल रही शाह पैथोलॉजी,पैथोलॉजी के साथ-साथ करता है मरीजों का इलाज

झोलाछाप पैथोलॉजी संचालक ने बताया पूरे दिन में लगभग 30 से 35 तक आ जाते हैंमरीज
जिस व्यक्ति के पास न डिग्री है न किसी डॉक्टर का सहयोग है फिर भी चला रहा है पैथोलॉजी.

कुछ दिन पहले पैथोलॉजी संचालक के खिलाफ हुई थी जांच.
जिसमेंअपनी ऊंची पहुंच के कारण हर बार कानूनी दांवपेच से निकलकर पैथोलॉजी चलाई जा रही है.

स्वास्थ्य विभाग में कई बार शिकायत की गई लेकिन पैथोलॉजी संचालक के खिलाफ नहीं की गई अभी तक कोई ठोस कार्यवाही.
स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी अनजान बनकर नहीं कर रहे हैं साईं पैथोलॉजी पर कोई कार्यवाही इंतजार है तो बस किसी व्यक्ति की मौत होने का.

बड़ा हादसा हो जाने के बाद स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों की खुलेगी नीद.
झोलाछाप डॉक्टरों पर कब होगी कानूनी कारवाही क्या ऐसे ही लोगों की जिंदगी से खिलवाड़ करते रहेंगे.
कब खुलेगी स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों की नींद
बड़ा हादसा होने के बाद कौन बनेगा जिम्मेदार.

Share.

Comments are closed.