मालदा, 11 सितंबर: हरिश्चंद्रपुर के जागरण संघ क्लब में गणेश चतुर्थी पर पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की दुर्गा प्रतिमा बनाकर ,गणेश को उनकी गोद में रखकर पूजा किया जा रहा है . इस घटना को लेकर राजनीतिक घमासान शुरू हो गया है।बताया जाता है यह क्लब तृणमूल कांग्रेस के नेता और कार्यकर्ताओं के समर्थकों द्वारा संचालित है.

आरोप है कि आगंतुकों का ध्यान खींचने लिए पार्टी सुप्रीमो इवन मुख्यमंत्री ममता बनर्जी प्रतिमा बनाई गयी है। दूसरी ओर क्लब के अधिकारियों के मुताबिक, मुख्यमंत्री ममता बनर्जी दस साल से अधिक समय से दुर्गा की तरह पश्चिम बंगाल के लोगों की रक्षा कर रही हैं। इसलिए ममता बनर्जी की तुलना देवी दुर्गा से की गई है और उनकी दस भुजाओं वाली मूर्ति बनाई गई है और पुत्र गणेश को उनकी गोद में रखा गया है। इस दौरान उन्हें कोई आपत्ति नजर नहीं आती।

इस दिन मां दुर्गा की ममता बनर्जी नीले और सफेद रंग की साड़ी में दस हाथों में कन्याश्री की तस्वीर, हाथ में हरे रंग की साथी और दोनों हाथों में गणेश की तस्वीर लिए मंडप में खड़ी नजर रही है । पूजा में तृणमूल कांग्रेस के प्रदेश महासचिव विश्वजीत मंडल, जिला छात्र अध्यक्ष प्रसून राय, जिला महासचिव जम्बू रहमान, प्रखंड छात्र अध्यक्ष विमान झान, युवा हरिश्चंद्रपुर 1 व 2 अध्यक्ष जियाउर रहमान, मनोतोष घोष आदि उपस्थित थे.


तृणमूल जिला महासचिव और क्लब सचिव बुलबुल खान ने कहा कि हमारा क्लब तृणमूल कार्यकर्ता समर्थकों द्वारा चलाया जाता है. मां दुर्गा की तरह ममता बनर्जी भी सुख-दुख के साथ हमारे पश्चिम बंगालियों के साथ खड़ी हैं। लोक कल्याणकारी परियोजनाओं के माध्यम से सभी अमीर और गरीब लोगों के लाभ के लिए कार्य करता है । इसलिए हमने उनके


सम्मान करने के लिए उन्हें देवी दुर्गा की तरह बनाया है।इस विषय में मुख्यमंत्री की तुलना भाजपा जिला सचिव किसान केडिया देवी दुर्गा से करना ठीक नहीं है. इसे मुख्यमंत्री का समर्थन नहीं मिल सकता है। आम लोग इस मामले को अच्छी नजरों से नहीं देखेंगे और इसका जवाब आने वाला पंचायत वोट देगा।

Share.

Comments are closed.